ताज़ा खबर
 

जम्‍मू: पहली बार किसी रोहिंग्‍या के पास मिले 30 लाख रुपये कैश, झुग्‍गी से तीन गिरफ्तार

बरामद की गई नकदी को एक प्‍लास्टिक कंटेंनर में कबाड़ के नीचे सूटकेस में छिपाकर रखा गया था। रोहिंग्‍या को कई संस्‍थाओं ने देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है।

Author August 10, 2018 1:54 PM
रोहिंग्‍या बस्‍ती (चित्र का इस्‍तेमाल केवल प्रस्‍तुतिकरण के लिए किया गया है।) Photo : Express Archive

जम्‍मू के चन्‍नी हिम्‍मत इलाके में एक झुग्‍गी से 30 लाख रुपये की नकदी बरामद की गई है। पुलिस ने इस संबंध में एक रोहिंग्‍या परिवार के तीन सदस्‍यों को पूछताछ के लिए उठाया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, मुखबिरी के आधार पर झुग्‍गी में छापा मारा गया। यहां से 500 और 2000 रुपये के नए नोटों में 27 लाख रुपये तथा बाकी कम राशि के नोटों में नकदी मिली है। ऐसा पहली बार है जब म्‍यांमार से यहां आए किसी रोहिंग्‍या परिवार के पास से इतनी बड़ी रकम मिली हो। रोहिंग्‍या भारत में छोटी-मोटी नौकरियां करते हैं।

सूत्रों के अनुसार, पकड़े गए रोहिंग्‍या ने बताया कि ये पैसा इस्‍माइल (19) और नूर आलम (21) का है। उन्‍होंने पुलिस से कहा कि इस्माइल और नूरू आलम दो-तीन दिन पहले बांग्‍लादेश चले गए। पकड़े गए तीनों रोहिंग्‍या यह नहीं बता सके कि बिना वैध वीजा के वे दोनों कैसे बांग्‍लादेश जा सकते हैं। यह युवा जम्‍मू में पांच-छह साल से रह रहे थे।

मिली जानकारी के अनुसार, बरामद की गई नकदी को एक प्‍लास्टिक कंटेंनर में कबाड़ के नीचे सूटकेस में छिपाकर रखा गया था। पुलिस विभिन्‍न संभावनाओं पर काम कर रही हैं जैसे- आतंकी गतिविधियों के लिए हवाला का पैसा, म्‍यांमार से मानव तस्‍करी, ड्रग्‍स या फिर चोरी।

जम्‍मू-कश्‍मीर में रोहिंग्‍या की बढ़ती तादाद को देखते हुए कई संस्‍थाएं जैसे- जम्‍मू चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री तथा जम्‍मू एंड कश्‍मीर नेशनल पैंथर्स पार्टी उन्‍हें निर्वासित किए जाने की मांग करती रही हैं। रोहिंग्‍या को कई संस्‍थाओं ने देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App