ताज़ा खबर
 

कश्मीर में सेना तैनात करेगी ‘रोबो आर्मी’, आतंकी अड्डों में घुस ऑटोमेटिक हथियारों से मचाएंगे तबाही, रिमोट से होंगे कंट्रोल, जानें- खासियत

जानकारी के मुताबिक रोबोटिक्स सर्वेलांस यूनिट को संचालित करने के लिए सैन्याधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाना है।

Author Published on: November 21, 2019 4:13 PM
रोबोट की तैनाती के लिए आर्मी जवानों को प्रशिक्षित किया जाएगा। फाइल फोटो

जम्मू कश्मीर से सटे अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर अब भारत की ताकत पहले से और भी ज्यादा बढ़ जाएगी। जल्दी ही सीमा पर ‘रोबोट आर्मी’ की तैनाती की जाएगी। इस आर्मी के जरिए भारत के निशाने पर है आतंकवाद। दरअसल जम्मू कश्मीर की सीमा से होने वाले आतंकी घुसपैठ पर नजर बनाए रखने और हर आतंक का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए ‘रोबो आर्मी की तैनाती की जाएगी।’ शुरुआत में करीब 544 ‘रोबोट आर्मी’ के दस्ते को सीमा पर तैनात किया जाएगा। यह रोबोट आतंकवाद प्रभावित इलाकों में सेना की आतंकरोधी यूनिट और सुरक्षाबलों के लिए सहायक सिद्ध होंगे।

यह है खासियत:

– यह ‘रोबो सोल्जर’ दूर से रिमोट के जरिए चलेंगे।

– ‘रोबो सोल्जर’ पहाड़ और सीढ़ियों पर चढ़ने में सक्षम हैं।

– ‘रोबो आर्मी’ कैमरे और ट्रांसमिशन सिस्टम से लैस होंगे।

– इनके पास ऑटोमैटिक बंदूकें होंगी।

– यह रोबोट आर्मी एंट्री टेररिस्ट सर्विलांस टारगेट के उपर हावी होने और निशाने पर कार्रवाई करने में माहिर होती है।

– ऑपरेशन के दौरान यह रोबोट आतंकी ठिकानों में घुस कर आतंकियों को ढेर कर सकते हैं।

– कैमरे से लैस होने की वजह से यह आतंकी गतिविधियों पर भी नजर रखने में सक्षम हैं।

– किसी भी मकान से करीब 200 मीटर की दूरी तक का स्पष्ट वीडियो दिखाने में यह सक्षम होते हैं।

– यह रोबोट 360 डिग्री घूमकर भी निशाना बना सकते हैं।

– बम धमाकों व गोलाबारी के दौरान लगने वाले झटकों को सहने में समर्थ हैं।

– पानी के नीचे 20 मीटर की गहराई तक भी काम कर सकते हैं।

– पानी के भीतर से ही यह ग्रेनेड को निर्धारित लक्ष्य पर दाग कर वहां से तुरंत लौट सकते हैं।

इतनी सारी खासियतों वाले इस रोबोट का नाम ‘दक्ष’ है। जानकारी के मुताबिक रोबोटिक्स सर्वेलांस यूनिट को संचालित करने के लिए सैन्याधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जाना है। सेना की प्रत्येक बटालियन में सात से आठ अधिकारियों व जवानों को इसका प्रशिक्षण दिया जाएगा। जाहिर है रिमोट से संचालित होने वाले यह युद्धक वाहन भारतीय सेना की ताकत को और आधार देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘देने पड़ेंगे हर सवाल के जवाब, आपकी एफिडेविट से कुछ समझ नहीं आया’, J&K मामले में SC जज ने सॉलिसिटर जनरल को हड़काया
2 BHU विवाद: संस्कृत के प्रोफेसर फिरोज खान के समर्थन में उतरे Chancellor, कहा- छात्रों का विरोध गलत
3 शिवसेना MLA बोले- जो कोई हमारे विधायकों को तोड़ने की कोशिश करेगा, हम उसका सिर फोड़ देंगे, पांव तोड़ देंगे
जस्‍ट नाउ
X