LG मनोज सिन्हा के पूर्व सलाहकार के घर छापा, बंदूक के फर्जी लाइसेंस रैकेट में जम्मू-कश्मीर, दिल्ली और मध्य प्रदेश में CBI की छापेमारी

आरोप के मुताबिक तत्कालीन लोक सेवकों ने राज्य के गैर निवासियों को नियमों के खिलाफ जाकर शस्त्र लाइसेंस जारी किये थे। इसके लिए उन्होंने लोगों से रिश्वत भी ली थी।

Jammu Kashmir, CBI Raid
जम्मू-कश्मीर, दिल्ली और मध्य प्रदेश समेत 40 ठिकानों पर सीबीआई ने छापेमारी की है(फोटो सोर्स: ANI/PTI)।

सीबीआई ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के पूर्व सलाहकार बशीर खान के अलावा 40 और ठिकानों पर छापेमारी की। बता दें कि यह छापेमारी बंदूकों के फर्जी लाइसेंस जारी करने वाले रैकेट को लेकर की गई। इस रैकेट में बशीर खान की संलिप्तता को लेकर एजेंसी ने गृह मंत्रालय को पहले ही जानकारी दी थी। जिसके बाद उन्हें इसी महीने की शुरुआत सलाहकार के पद से हटा दिया था।

कुल 40 ठिकानों पर छापेमारी: बशीर खान को पिछले साल मार्च में तत्कालीन उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू का सलाहकार बनाया गया था जोकि मौजूदा एलजी मनोज सिन्हा के भी सलाहकार रहे। वहीं जम्मू-कश्मीर के 14 जगहों के अलावा दिल्ली और मध्य प्रदेश समेत 40 ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी की गई है। आरोप है कि तत्कालीन लोक सेवकों ने बाकी के आरोपियों के साथ मिलकर राज्य के गैर निवासियों को नियमों के खिलाफ जाकर शस्त्र लाइसेंस जारी किये। इसके लिए उन्होंने रिश्वत भी ली।

फर्जीवाड़े का खुलासा: 2017 में राजस्थान आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने फर्जी लाइसेंस जारी करने को लेकर खुलासा किया था और फर्जी तरीके से शस्त्र लाइसेंस जारी करने के आरोप में 50 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया था।

इससे पहले भी हुई है छापेमारी: फर्जी गन लाइसेंस जारी करने को लेकर तीन पहले भी एजेंसी ने छापेमारी की थी। सीबीआई ने उस दौरान 2 सीनियर IAS अधिकारियों, शाहिद इकबाल चौधरी और नीरज कुमार को भी जांच के दायरे में शामिल किया हैं। इन दोनों IAS अधिकारियों पर 2 लाख फर्जी गन लाइसेंस जारी करने के मामले में लिप्त रहने का आरोप है।

लाइसेंस देने में J&K सबसे आगे: गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में फर्जी गन लाइसेंस जारी करने के अधिक मामले सामने आए हैं। सरकारी आकंड़ों के मुताबिक फर्जी लाइसेंस जारी करने में जम्मू कश्मीर सबसे टॉप पर है। आंकड़ों पर गौर करें तो देशभर में बीते दो सालों 22,805 गन लाइसेंस जारी किए। इनमें से लगभग 18,000 लाइसेंस अकेले जम्मू-कश्मीर से जारी हुए। ऐसे में पूरे देश के 81 प्रतिशत लाइसेंस सिर्फ कश्मीर से जारी हुए। माना जा रहा है कि भारत के इतिहास में अब तक का ये सबसे बड़ा गन रैकेट है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट