ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: 5 अगस्त के बाद पहली राजनीतिक गतिविधि, 5 गुमनाम चेहरों ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, बड़े नेताओं को अब भी इजाजत नहीं

कॉन्फ्रेंस के दौरान शाहिद खान ने मीडिया से बातचीत के अपने फैसले को साहसिक बताया। उन्होंने कहा कि हमने ऐसे समय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिस समय अन्य नेता खामोश हैं।

Jammu Kashmir, JKPM, article 370, pdp, modi government, article 35a, shahid khan, mehbooba mufti, omar abdullahJKPM प्रमुख शाहिद खान। फोटो: ANI

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद सोमवार को राज्य में पहली राजनीतिक गतिविधि देखने को मिली। यहां पांच गुमनाम चेहरों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जम्मू कश्मीर पॉलिटिकल मूवमेंट (आई) के प्रमुख शाहिद खान समेत दल के अन्य नेता कॉनफ्रेंस में शामिल हुए। इस प्रेस कॉनफ्रेंस में जम्मू कश्मीर पॉलिटिकल मूवमेंट (आई) के प्रवक्ता, रजा अशरफ, वकील और मुशताक तांत्रे भी शामि रहे।

कॉन्फ्रेंस के दौरान शाहिद खान ने मीडिया से बातचीत के अपने फैसले को साहसिक बताया। उन्होंने कहा कि हमने ऐसे समय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिस समय अन्य नेता खामोश हैं। कहा कि मीडिया कश्मीर को लेकर नकारात्मक नहीं बल्कि अब सकारात्मक सोचें। खान ने कहा ‘कश्मीर समस्या का नहीं बल्कि समाधान का हिस्सा होना चाहिए। इसके साथ ही केंद्र सरकार को राज्य के युवाओं से बातचीत करनी होगी। मैं स्कूल, कॉलेजों और यूनिवर्सिटी में कई छात्रों से मिला हूं और उनके पास कई तरह के आइडिया और ऊर्जा हैं। लेकिन दुनिया हमारी तरफ एक अलग नजरिए से देखती है। मैं सरकार से अनुरोध करता हूं कि वह युवाओं से बातचीत शुरू करें।’

उन्होंने आगे कहा ‘सरकार को कम्यूनिकेशन के साधनों को पूरी तरह से बहाल करना चाहिए। इसके साथ ही गिरफ्तार युवाओं को छोड़ देना चाहिए। मालूम हो कि पीपल डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) चीफ महबूबा मुफ्ती और नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला और फारुख अब्दुल्ला को आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से नजरबंद रखा गया है।

उमर को हरि निवास पैलेस में रखा गया है, वहीं महबूबा को श्रीनगर में चेशमाशाही में जेके पर्यटन विकास हट में हिरासत में लिया गया है। उमर और महबूबा दोनों ही जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति और दो केंद्र शासित प्रदेशों में राज्य के पुनर्गठन का विरोध कर रहे हैं। हालांकि सरकार ने बीते 8 सितंबर को दावा किया है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य हो चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 IRCTC INDIAN RAILWAYS: बड़ी राहत, प्राइवेट ट्रेनों में मनमाना किराया वसूली रोकने के लिए बना यह प्लान
2 मानवाधिकारों की रक्षा करे भारत- NRC और कश्मीर पर चिंता जताते हुए बोले UNHRC प्रमुख
3 Zero Budget Farming: मोदी सरकार के फैसले पर कृषि वैज्ञानिकों ने उठाए सवाल, पीएम को लिखी चिट्ठी
राशिफल
X