ताज़ा खबर
 

जम्‍मू कश्‍मीर: श्रीनगर में पुलिस पर ग्रेनेड से हमला, एक पुलिसकर्मी शहीद, 11 घायल

आतंकियों ने रविवार (दो अप्रैल) को शाम को सात बजे के करीब गंजबक्‍श पार्क के पास पुलिस दल पर ग्रेनेड फेंका।

जम्‍मू कश्‍मीर के नौहट्टा में एक ग्रेनेड हमले में एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया जबकि 11 अन्‍य घायल हो गए।

जम्‍मू कश्‍मीर के नौहट्टा में एक ग्रेनेड हमले में एक पुलिसकर्मी शहीद हो गया जबकि 11 सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। घायलों में 4 जवान सीआरपीएफ और सात पुलिस के हैं। आतंकियों ने रविवार (दो अप्रैल) को शाम को सात बजे के करीब गंजबक्‍श पार्क के पास पुलिस दल पर ग्रेनेड फेंका। उस समय पुलिसकर्मी अपने ड्यूटी से लौट रहे थे। घायल पुलिसकर्मियों को पास के अस्‍पताल में इलाज के लिए ले जाया गया। एक अधिकारी ने बताया कि इसी इलाके में कुछ बदमाशों ने पुलिस पर पथराव भी किया था। नौहट्टा पुराने श्रीनगर का एक इलाका है। यह हमला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जम्‍मू-श्रीनगर हाइवे पर नाशरी-चेनानी सुरंग का उद्घाटन करने के कूछ घंटे बाद ही हुआ है। अलगाववादी संगठनों ने पीएम मोदी के दौरे के विरोध में बंद बुलाया था। इससे पहले नौशेरा सेक्‍टर में पाकिस्‍तानी की ओर से भारतीय पोस्‍ट को निशाना बनाकर गोलीबारी करने की खबर भी आई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुरंग के उद्घाटन के बाद जनसभा में अपने संबोधन में भी पथराव करने वालों पर निशाना साधा था। उन्‍होंने कहा था कि एक तरफ कुछ भ्रमित युवा पत्‍थर फेंक रहे हैं। वहीं कुछ युवा इन्‍हीं पत्‍थरों से निर्माण का काम कर रहे हैं। बता दें कि नाशरी-चेनानी सुरंग के निर्माण का कार्य कश्‍मीर के युवाओं ने ही किया है। मोदी ने अपने भाषण में नाम लिए बिना पाकिस्‍तान पर भी हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि सीमा पार बैठे लोग अपने आप को संभाल नहीं पा रहे हैं।

जम्‍मू कश्‍मीर पुलिस के डीजीपी एसपी वेद ने कहा है कि एनकाउंटर की जगह पर आकर जो युवा सुरक्षा बलों के काम में दखल दे रहे हैं असल में वो खुद ही आत्महत्या कर रहे हैं। दूसरी तरफ से जवान लड़कों को उकसाया जा रहा है। युवाओं को भड़काया जा रहा है। उन्हें एनकाउंटर की जगह पहुंचकर सुरक्षा बलों पर पत्थर फेंकने के लिए गुमराह किया जाता है। युवाओं को चाहिए वो घर पर रहें और एनकाउंटर वाली जगह पर आने से बचें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App