ताज़ा खबर
 

एंटी करप्शन ब्यूरो ने महबूबा मुफ्ती को थमाया नोटिस तो बोलीं पूर्व सीएम- ‘ये टैक्टिस काम नहीं करेगा’

इस बीच, नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने रविवार (04 अग्सत) को जम्मू कश्मीर में ‘‘अनिश्चितता और तनावपूर्ण’’ स्थिति को लेकर आपात बैठक की और चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी पार्टी राज्य के विशेष दर्जे से होने वाली किसी भी छेड़छाड़ का विरोध करेगी।

पीडीपी चीफ और जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः शोएब मसूदी)

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ने एंटी करप्शन विभाग द्वारा भेजे गए नोटिस पर टिप्पणी की है कि ये टैक्टिस काम नहीं करेगा। सोशल मीडिया पर नोटिस की कॉपी साझा करते हुए महबूबा ने लिखा है, “भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो से एक पत्र प्राप्त करने पर कोई आश्चर्य नहीं। मुख्य धारा के नेताओं को एकजुट करने और सामूहिक प्रतिक्रिया के लिए संभावित प्रयासों को विफल करने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। मैं बहुत छोटी इकाई हूँ जो आज हमें एकजुट करती है। इस तरह की रणनीति से काम नहीं चलेगा।”

एंटी करप्शन ब्यूरो ने इस पत्र में पूर्व सीएम से स्पष्टीकरण मांगा है। पत्र में कहा गया है कि कुछ मंत्रियों की सिफारिश पर जम्मू-कश्मीर बैंक के अध्यक्ष द्वारा कुछ नियुक्तियां की गई हैं। यह स्पष्ट करें कि क्या जम्मू-कश्मीर बैंक में नियुक्तियों के लिए इस तरह के संदर्भों का आपका मौखिक या किसी और तरह का समर्थन था? इस पर पलटवार करते हुए महबूबा ने लिखा कि इस तरह का टैक्टिस (रणनीति) काम नहीं करेगा।

बता दें कि एक हफ्ते में जम्मू-कश्मीर में स्थितियां असामान्य हुई हैं। वहां इस बात को लेकर खौफ है कि राज्य में कुछ बड़ा होने वाला है। शुक्रवार को राज्य सरकार द्वारा एडवायजरी जारी करने के बाद और उहापोह की स्थिति है। इस बीच राज्य की तमाम विपक्षी पार्टियां एकजुट हो रही हैं और राज्य के हालात पर चर्चा कर रही हैं।

इस बीच, नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने रविवार (04 अग्सत) को जम्मू कश्मीर में ‘‘अनिश्चितता और तनावपूर्ण’’ स्थिति को लेकर आपात बैठक की और चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी पार्टी राज्य के विशेष दर्जे से होने वाली किसी भी छेड़छाड़ का विरोध करेगी। पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की घाटी की स्थिति पर चर्चा के लिये साढ़े चार घंटे तक बैठक चली। बैठक की अध्यक्षता पार्टी उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने की। बैठक के बाद पार्टी प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी कश्मीर के लोगों में विश्वास बहाली के लिये ‘‘प्रभावी और तत्काल’’ कदम उठाने की मांग करती है।

उन्होंने कहा कि पार्टी संविधान के अनुच्छेद 370 और 35-ए की रक्षा के लिये अतिरिक्त प्रयास करने के लिये तैयार है। पार्टी ने यह भी कहा कि स्थिति पर सोची-समझी प्रतिक्रिया देने की जरूरत है। प्रवक्ता ने कहा कि यह बैठक राज्य के मौजूदा हालात पर चर्चा के लिये बुलाई गई थी।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 बकरीद से पहले मुस्लिम धर्मगुरु की अपील- सड़क पर न दें कुर्बानी, लोगों को न हो दिक्कत
2 Adani अब इस कारोबार से बनाएंगे ढेर सारा पैसा, खोल डाली नई कंपनी
3 Chandrayaan-2 ने खींची धरती की ये खूबसूरत तस्वीरें, ISRO ने की जारी