ताज़ा खबर
 

‘मैं हिंदुओं को मारने आया था, ऐसा करने में मजा आता है’

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के एक काफिले पर हमले के बाद आज एक संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादी को..

Author August 5, 2015 22:50 pm
बीएसएफ पर आतंकी हमले में पकड़ा गया आतंकी (दाएं)

उधमपुर में बीएसएफ के एक काफिले पर आज हुए हमले के बाद जिंदा पकड़े गये पाकिस्तान से आये संदिग्ध लश्कर-ए-तैयबा आतंकवादी नवेद ने कहा कि ‘ऐसा करने में मजा आता है।’ आतंकवादी हमले में दो कांस्टेबल मारे गये।

खुद को पाकिस्तान के फैसलाबाद का बताने वाले नवेद ने मीडिया के सामने दावा किया कि वह साथी आतंकवादी मोमिन खान के साथ 12 दिन पहले जम्मू क्षेत्र में आया था। खान की बीएसएफ की ओर से की गयी जवाबी गोलीबारी में मौत हो गयी।

पूछताछ के दौरान नावेद, जिसकी उम्र 20 साल के आसपास है, कई बार अपना नाम बदलता रहा। पहले उसने कहा कि उसका नाम कासिम खान है, फिर कहा उस्मान और फिर बताया कि उसका नाम दरअसल मोहम्मद नावेद है और उसके परिवार में दो भाई और एक बहन हैं।

नावेद ने बताया कि वह चार अन्य आतंकवादियों के साथ एक महीने पहले इसी तरह के एक अन्य आतंकी मिशन पर कश्मीर घाटी के कुपवाड़ा जिले में घुसा था, लेकिन आगे बढ़ने में नाकाम रहने के कारण वह पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तरफ वापस भाग गया।

पकड़े गए आतंकवादी का व्यवहार बहुत अजीब नजर आया। वह टेलीविजन के कैमरों के सामने मुस्कुराता हुआ दिखा और संवाददाताओं के सवालों के जवाब देते हुए इस सब को मजेदार करार दिया। उसका कहना था कि अगर वह इस हमले के दौरान मर जाता तो वह अल्लाह की मर्जी होती।

अजमल कसाब के बाद नवेद पहला संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादी है जिसे जिंदा पकड़ा गया है। कसाब को 2008 में मुंबई आतंकवादी हमलों के दौरान पकड़ा गया था।

गहरे नीले रंग की कमीज और भूरे रंग की पतलून पहने नवेद ने राहत भरे अंदाज में कहा, ‘‘मैं हिंदुओं को मारने आया था।’’ उसने कहा, ‘‘मुझे यहां आये 12 दिन हो गये हैं। इतने दिन हम जंगल में घूमते रहे।’’

J&K आतंकी हमला: बीएसएफ को मिली बड़ी सफलता, 2 आतंकी ढेर, 1 गिरफ्तार

शुरू में उसने कहा कि वह 20 साल के आसपास का होगा लेकिन बाद में दावा किया कि उसकी उम्र केवल 16 साल है। पहले उसने अपनी पहचान कासिम के तौर पर बतायी और बाद में अपना नाम उस्मान बताया।

प्रतिबंधित संगठन लश्कर-ए-तैयबा नौजवानों को यह फरमान जारी कर जम्मू कश्मीर भेजता है कि अगर वे पकड़े जाएं तो वे खुद को 18 साल से कम उम्र का बताएं ताकि उन पर किशोरों की तरह मुकदमा चलें।

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर आज सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के काफिले पर हमले के बाद संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया। हमले में दो जवान शहीद हो गए और 11 घायल हो गए। इस हमले में शामिल एक अन्य आतंकवादी मारा गया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App