Jammu Cadre IPS Turned teacher to helping poor students to get government jobs - गरीब कश्‍मीरी बच्‍चों को रोज दो घंटे फ्री पढ़ाता है ये IPS - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जम्‍मू-कश्‍मीर: रोज दो घंटे मुफ्त कोचिंग दे रहे IPS संदीप चौधरी, जीता कश्‍मीरियों का दिल

ये कदम उन सैकड़ों विद्यार्थियों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर रहा है, जिनके पास पढ़ने के लिए जज्बा तो है लेकिन देने के लिए महंगे कोचिंग इंस्टीट्यूट की फीस नहीं है। हम बात कर रहे हैं दक्षिणी जम्मू के पुलिस अधीक्षक संदीप चौधरी की। वह मेधावी छात्रों की शिक्षा के रास्ते में आने वाली बाधाओं को हटाने के लिए प्रयासरत हैं।

दक्षिण जम्मू के एसपी संदीप चौधरी विभिन्न परीक्षाओं की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को फ्री कोचिंग देते हुए। फोटोे- पीटीआई

अपने व्यस्त दिनचर्या से समय निकालकर एक युवा आईपीएस अधिकारी पढ़ाई में युवा छात्रों की मदद करके उनके सपने साकार कर रहा है। ये कदम उन सैकड़ों विद्यार्थियों के चेहरों पर मुस्कान बिखेर रहा है, जिनके पास पढ़ने के लिए जज्बा तो है लेकिन देने के लिए महंगे कोचिंग इंस्टीट्यूट की फीस नहीं है। हम बात कर रहे हैं दक्षिणी जम्मू के पुलिस अधीक्षक संदीप चौधरी की। भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी संदीप चौधरी 2012 बैच के अफसर हैं। वह मेधावी छात्रों की शिक्षा के रास्ते में आने वाली बाधाओं को हटाने के लिए प्रयासरत हैं। अपनी इस कोशिश को उन्होंने आॅपरेशन ड्रीम का नाम दिया है।

जम्मू कश्मीर कैडर के पुलिस अधिकारी आईपीएस संदीप चौधरी ने सबसे पहले अपने आॅफिस के चैंबर में 10 बच्चों को फ्री में पढ़ाकर इसकी शुरुआत की थी। ये सभी बच्चे राज्य पुलिस में सब इंस्पेक्टर की भर्ती के लिए तैयारी कर रहे थे। ये परीक्षा इसी महीने के अंत में आयोजित होने वाली है। कुछ ही दिनों में उनसे पढ़ने के लिए आने वाले बच्चों की तादाद बढ़कर 150 विद्यार्थियों तक पहुंच गई। ये सभी सिविल सेवाओं, कर्मचारी चयन आयोग और बैंकिंग सेक्टर की तैयारी करने वाले विद्यार्थी थे। बच्चों की बढ़ती तादाद को देखते हुए संदीप चौधरी को वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए कक्षाओं को कार्यालय के पास मौजूद निजी सामुदायिक भवन में लगाना पड़ा। ये भवन जम्मू एयरपोर्ट रोड पर स्थित उनके कार्यालय के पास में ही स्थित है।

समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए आईपीएस संदीप चौधरी ने कहा,”मैं सब—इंस्पेक्टर के पद के लिए जल्दी ही होनी वाली परीक्षाओं के बारे में अपने साथियों से चर्चा कर रहा था। उसी वक्त मेरे दिमाग में विचार आया कि क्यों न हम प्रतियोगी छात्रों के लिए फ्री कोचिंग शुरू करें। हर दिन, विद्यार्थियों की तादाद बढ़ती जा रही है। इस पहल का सबसे उजला पक्ष यह भी है कि 25 से ज्यादा लड़कियां हर रोज हमारी कक्षाओं में आ रही हैं।” आईपीएस संदीप चौधरी पंजाब के रहने वाले हैं। उन्होंने इस पहल की शुरुआत 30 मई को अपने कार्यालय से शुरू की थी। नई कक्षाएं एक जून से शुरू होकर 23 जून तक चलेंगी। ये सब—इंस्पेक्टर परीक्षा के लिए निर्धारित परीक्षा की तिथि से ठीक एक दिन पहले की तारीख है। एसपी संदीप चौधरी ने अपनी कहानी अपने विद्यार्थियों के साथ साझा की है।

उन्होंने बताया कि वह कभी भी उच्च शिक्षा के लिए कॉलेज या फिर संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग नहीं गए हैं। एसपी संदीप चौधरी ने बताया,”मैंने अपनी बीए और एमए की परीक्षा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से दी थी। मैंने पत्रकारिता में नियमित कोर्स के लिए पंजाब विश्वविद्यालय में दाखिला लिया। लेकिन तीन महीने बाद ही मुझे उसे छोड़ना पड़ा। इसके बाद मैंने लोक प्रशासन से इग्नू के जरिए ही एमए किया। मैंने अपनी पूरी पढ़ाई पत्राचार के जरिए ही की। यह बहुत महंगी भी नहीं है। लेकिन मुझे हर स्तर पर मार्गदर्शन मिलता रहा है। यूपीएससी की तैयारी के दौरान भी मुझे अपने दोस्तों और वरिष्ठों का सहयोग मिला है। इसीलिए मैं हमेशा अपने विद्यार्थियों से कहता हूं कि महंगी कोचिंग कभी भी सफलता का शॉर्टकट नहीं होती है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App