ताज़ा खबर
 

JK: केरन सेक्टर में PAK ने भारतीय सेना पर फिर किया हमला, 2 जवान जख्मी

हमला पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने सेना की पेट्रोलिंग पर हमला, जो केरन सेक्टर में हो रही थी। हादसे के दौरान दो जवानों जख्मी हुए हैं, जिनकी हालत फिलहाल नाजुक बताई जा रही है।

भारतीय सेना के लिए प्रतीकात्मक तस्वीर।

पाकिस्तान की ओर से गुरुवार (सात जून) को फिर नापाक हरकत की गई। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पड़ोसी मुल्क ने हमला कर दिया। यह हमला पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) ने सेना की पेट्रोलिंग पर हमला, जो केरन सेक्टर में हो रही थी। हादसे के दौरान दो जवानों जख्मी हुए हैं, जिनकी हालत फिलहाल गंभीर है। सेना ने भी बैट को ईंट का जवाब पत्थर से दिया। फिलहाल सेना का ऑपरेशन जारी है। खास बात है कि इस दौरान गृह मंत्री राजनाथ सिंह भी जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं।

पाकिस्तान के हमले की यह खबर इसलिए भी चौंकाती है, क्योंकि गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस वक्त श्रीनगर में हैं। गुरुवार सुबह वह वहां दो दिवसीय दौरे के अंतर्गत पहुंचे, जहां पर मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ उनकी मुलाकात होगी। राजनाथ इस दौरान सरहद पर होने वाली आतंकी गतिविधियों के साथ अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा बंदोबस्त के मसले पर बातचीत करेंगे।

बुधवार को इससे पहले यहां के माछिल सेक्टर में आतंकियों ने घुसपैठ का प्रयास किया था। मगर सेना ने नियंत्रण रेखा के पास ही उन्हें मार गिराया था और घुसपैठ के नापाक इरादे को नाकाम कर दिया था। सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि माछिल में नियंत्रण रेखा पर संदिग्ध गतिविधि देखी गई थी, जिसके बाद सेना की उनसे मुठभेड़ हुई। हमने तीन आतंकी मार गिराए थे।

यही नहीं, मंगलवार (पांच जून) को भी कुछ ऐसी आतंकी गधिविधि बंदीपुरा में हज्जन थाने के नजदीक हुई थी। आतंकियों ने तब सेना के कैंप पर अंडरबैरल ग्रेनेड लॉन्चर की मदद से हथगोले फेंके थे। वहीं, रविवार को भी पुलवाला जिले में सैन्य शिविर पर आतंकी हमला किया गया था।

जम्मू-कश्मीर की सीएम ने आतंकी घटनाओं को लेकर बुधवार को प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने सख्त लहजे में कहा था, “कश्मीर में सक्रिय आतंकियों को केंद्र सरकार की ओर से एकतरफा युद्धविराम रास नहीं आ रहा। वह इसे नुकसान पहुंचाने और भंग करने के लिए हर संभव षडयंत्र रचने में लगे हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App