ताज़ा खबर
 

तो बीजेपी जम्मू-कश्मीर के बाद तमिलनाडु का भी करेगी विभाजन? सोशल मीडिया और सियासी गलियारों में सुगबुगाहट

पिछले अनुभवों के बाद राजनीतिक पार्टियां, विश्लेषक और कार्यकर्ता इस बात को लेकर चिंतित हैं कि अगर यह मांग जोर पकड़ने लगी तो कई अनिश्चित्ताएं खड़ी हो जाएंगी।

तमिलनाडु विभाजन की यह मांग पुरानी है।

तो अब जम्मू-कश्मीर के बाद तमिलनाडु का भी विभाजन होने वाला है।? हालांकि इस तरह की कोई आधिकारिक पुष्टि तो नहीं हुई है लेकिन सोशल मीडिया और सियासी गलियारे में इसे लेकर सुगबुगाहट काफी तेज है। ‘Vada Tamil Nadu Makkal Munnani’ नाम के एक एसोसिएशन ने हाल ही में नॉर्थ तमिलनाडु नाम से नए राज्य की मांग की है। अपनी मांग को लेकर ‘Vada Tamil Nadu Makkal Munnani’ ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपा भी है। इस संस्था ने बीते गुरुवार को इस मसले पर चेन्नई में एक बैठक भी की थी।

‘Vada Tamil Nadu Makkal Munnani’ ने नए राज्य का जो नक्शा तैयार किया है उसमें इंडस्ट्रियल नॉर्दन डिस्ट्रिक्ट, चेन्नई, खेती के लिए उपयुक्त डेल्टा प्रक्षेत्र और भाविसनगर को मिला कर एक अलग राज्य बनाने की मांग की गई है। नॉर्थ तमिलनाडु राज्य की मांग कर रहे लोगों का तर्क है कि राज्य के कई क्षेत्रों में अभी पिछड़ापन व्याप्त है। इन क्षेत्रों में रहने वाले लोग सत्ता तक अपनी पहुंच नहीं बना पाते लिहाजा इस इलाके की आबादी का राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक विकास बेहद जरुरी है। हालांकि तमिलनाडु विभाजन की यह मांग पुरानी है लेकिन इस मांग को फिर से उठाए जाने के बाद राज्य के सियासी गलियारे में सुगबुगाहट बढ़ गई है।

पिछले अनुभवों के बाद राजनीतिक पार्टियां, विश्लेषक और कार्यकर्ता इस बात को लेकर चिंतित हैं कि अगर यह मांग जोर पकड़ने लगी तो कई अनिश्चित्ताएं खड़ी हो जाएंगी। Tamil Language Rights Federation के सदस्यों का मानना है कि तमिलनाडु विभाजन की मांग बेहद खतरनाक है।

फेडरेशन मानती है कि भारतीय जनता पार्टी तमिलनाडु को जातीय आधार पर तीन भागों (नॉर्थ तमिलनाडु, कोंगू नाडू और साउथ तमिलनाडु) में बांटना चाहती है ताकि जातीय समीकरण साध कर वो तमिलनाडु में सियासी एंट्री मार सके। हालांकि तमिलनाडु प्रदेश भाजपा ने फिलहाल तमिलनाडु के बंटवारे को गैरजरूरी बताया है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि 50 साल के बाद हो सकता है कि इसकी जरुरत पड़े।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘माय’ समीकरण से आगे सवर्ण, दलितों को साथ ले लंबी लकीर खींचना चाह रही RJD, ट्विटर पर लालू भी ईजाद कर रहे नए-नए ‘नारे’
2 Maharashtra Govt: एनसीपी के खाते में वित्त और गृह जैसे बड़े मंत्रालय, उद्धव सरकार में विभागों का बंटवारा; पढ़ें किसे मिला कौन सा पद
3 देशभर में सबसे पहले CAA लागू करने जा रहे योगी आदित्यनाथ, अफसरों को शरणार्थियों की पहचान करने के आदेश
ये पढ़ा क्या?
X