ताज़ा खबर
 

JK: ‘भारत माता की जय’ पर अब्दुल्ला को दिखाए जूते, खफा पूर्व CM बोले- अगर समझते हैं ऐसे आजादी आएगी तो…

बुधवार को अबदुल्ला श्रीनगर स्थित एक दरगाह पहुंचे थे। वह नमाज अता करते उससे पहले ही वहां मौजूद लोग पूर्व सीएम को देख नारेबाजी करने लगे। नारे लगाने वालों में कुछ जूते भी उछाल रहे थे।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अबदुल्ला।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के मुखिया फारुक अबदुल्ला ने कहा है कि वह विरोध प्रदर्शनों या विरोध से डरने वाले नहीं है। प्रदर्शनकारी अगर समझते हैं कि ऐसे आजादी आएगी, तो ये उन्हें पहले प्रमुख समस्याओं से आजादी पानी चाहिए। इनमें बेरोजगारी, बीमारी और भुखमरी शामिल हैं। बता दें कि बुधवार (22 अगस्त) को अबदुल्ला श्रीनगर स्थित एक दरगाह पहुंचे थे। वह नमाज अता करते उससे पहले ही वहां मौजूद लोग पूर्व सीएम को देख नारेबाजी करने लगे। नारे लगाने वालों में कुछ जूते भी उछाल रहे थे। वजह- अबदुल्ला का दिवंगत पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की सर्वदलीय प्रार्थना सभा में भारत माता के जय के नारे लगाना था।

अबदुल्ला ने इस बारे में एएनआई से बात की। उन्होंने कहा, “मैं डरने वाला नहीं हूं। अगर ये समझते हैं कि इससे आजादी आएगी, तो इनसे कहना चाहूंगा कि पहले बेगारी, बीमारी और भुखमरी से आजादी पाओ।” वह आगे बोले, “आज भारत और पाकिस्तान के बीच शांतपूर्ण ढंग से बातचीत करने का वक्त आ चुका है। नफरत से दूरी बनाने की जरूरत है। ये देश हिंदू, मुसलमान, ईसाई और जो लोग यहां रहते हैं, उन सभी का है।”

उधर, सामाजिक कार्यकर्ता शबनम लोन ने एक टीवी डिबेट के दौरान बताया, “मेरी जानकारी के अनुसार उन्होंने नमाज पढ़ी। बुजुर्गों ने वहां पर दखल दी थी। जहां वह नमाज पढ़ने गए थे, वह जगह हमारे कश्मीर की संस्कृति का बहुत बड़ा गहवारा है। जिन्होंने भी विरोध किया, उन्होंने गलत किया। वहां हर किसी को हक है नमाज पढ़ने का। फारुक साहब को हक है, जो उन्हें कहना है।”

लोन के अनुसार, “ये वही फारुख साहब थे, जो पिछले साल पत्थरबाजों के पक्ष में उतरे थे। क्या इन्होंने पत्थरबाजों को स्वतंत्रता सेनानी बताया था? जबरदस्त निंदा हुई थी उनकी तब। हम कश्मीरी राजनीति की जुगलबंदी सही से करना जानते हैं। फारुक साहब ने वही दांव खेला और सही से खेला। वहां पीएम मोदी और अमित शाह थे। आज उन्होंने उनके सामने भारत माता की जय कहा।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App