ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में LOC के पास मुठभेड़, सेना ने मार गिराए दो पाक आतंकी

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में भारतीय सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चल रही मुठभेड़ में अबतक दो आतंकी मारे गए हैं। आतंकियों से दो एके -47 और भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद हुआ है।

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में एलओसी के पास मुठभेड़ दो आतंकी मारे गए। (indian express file)

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में एलओसी के पास भारतीय सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। इस मुठभेड़ में अबतक दो आतंकी मारे गए हैं। बताया जा रहा है कि आतंकी लगातार फायरिंग कर रहे हैं और सेना भी जवाबी कार्यवाही कर रही है। फिलहाल, जवानों ने मुठभेड़स्थल के आस पास के इलाके में कुछ और घुसपैठियों के छिपे होने की आशंका के आधार पर तलाशी अभियान जारी रखा हुआ है। मारे गए दोनों घुसपैठिए पाकिस्तानी मूल के लश्कर के आतंकी बताए जा रहे हैं।

मारे गए आतंकियों के पास से दो एके -47 और भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद हुआ है। सेना के मुताबिक कुछ आतंकियों को कुपवाड़ा के नौगाम सेक्टर में एलओसी के पास देखा गया था। सेना ने उन्हें घेरते हुए आत्मसमर्पण करने को कहा लेकिन आतंकी नहीं माने और गोलियां चलाने लगे। जिसके बाद भारतीय सुरक्षाबालों ने जबाबी फायरिंग करते हुए दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। GOC 19 इन्फैंट्री डिवीजन के मेजर जनरल वीरेंद्र वत्स ने कहा “आज नौगाम सेक्टर में एलओसी पर हमारे सैनिकों ने पाकिस्तानी पोस्ट से उत्पन्न संदिग्ध मूवमेंट का पता लगाया। ये एंटी घुसपैठ बाड़े को काटकर अंदर आने की कोशिश कर रहे थे। ग्राउंड पर उपस्थित ट्रुप्स ने उचित कार्रवाई करते हुए 2 आतंकवादियों को मार गिराया।”

मेजर जनरल ने आगे कहा “मारे गए आतंकियों के पास से 2AK असॉल्ट राइफल, 12 भरी हुईं मैग्ज़ीन्स, एक पिस्टल, कुछ ग्रेनेड बरामद हुए हैं। उनके पास से करीब डेढ़ लाख की पाकिस्तानी और भारतीय करंसी भी बरामद हुई है। सर्च अभियान अभी भी जारी है।” एलओसी पर घुसपैठ की वर्तमान स्थिति पर मेजर जनरल ने कहा “इनपुट्स से संकेत मिला है कि उनके लॉन्चपैड पूरी तरह से कब्जे में हैं। अगर अनुमान लगाएं तो 250-300 आतंकवादी वर्तमान में विपरीत लॉन्चपैड्स पर कब्जा कि हुए हैं।”

वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान की ओर से एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन करते हुए कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर मे बीएसएफ की चौकियों को निशाना बनाकर फायरिंग की जा रही है। बीएसएफ के जवान भी पाकिस्तान की फायरिंग का करारा जवाब दे रहे हैं। अभी तक किसी भी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

सुरक्षा एजेंसियों से जुड़े सूत्रों ने बताया कि पांच अगस्त से पहले आतंकी संगठनों की ओर से कश्मीर में पाकिस्तान की शह पर कई वारदातें अंजाम दी जा सकती हैं। इसमें खासकर नेताओं व पंचायत प्रतिनिधियों पर हमले किए जा सकते हैं।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 संसदीय समिति कर रही थी पीएम केयर फंड की समीक्षा, बीजेपी सांसदों ने बोल दिया हल्ला- जब संसद पैसा नहीं दे रही तो जांच क्यो?
2 पीएम गरीब कल्याण योजना निर्धारित लक्ष्य से चल रहा पीछे, तीन हफ्ते में 2/3 रकम खर्च, टॉप पर है ऑप्टिकल फाइबर बिछाने का काम
3 विकास दुबे से पहले योगी राज में 118 का हो चुका है एनकाउंटर, 74 में क्लीन चिट पा चुकी है पुलिस
ये पढ़ा क्या?
X