ताज़ा खबर
 

मां-बाप की गुजारिश भी नहीं मानी तो सुरक्षाबलों ने हिजबुल के दो आतंकियों को कर दिया ढेर, कुलगांव में सुबह से चल रही थी मुठभेड़

मुठभेड़ के दौरान आतंकियों के माता-पिता को साइट पर लाया गया और उन्हें सरेंडर करने को कहा गया। लेकिन आतंकियों ने मां-बाप की गुजारिश भी नहीं मानी जिसके बाद उन्हें ढेर कर दिया गया।

कुलगांव में मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है।

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में आज एक मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। मुठभेड़ के दौरान आतंकियों के माता-पिता को साइट पर लाया गया और उन्हें सरेंडर करने को कहा गया। लेकिन आतंकियों ने मां-बाप की गुजारिश भी नहीं मानी जिसके बाद उन्हें ढेर कर दिया गया। आतंकवादियों के लश्कर-ए-तैयबा समूह से होने का संदेह था, लेकिन अधिकारियों का कहना है कि वे हिजबुल मुजाहिदीन के सदस्य थे।

खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली थी कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले के वानपोरा इलाके में आतंकी छिपे हैं। जिसके बाद भारतीय सेना, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने इलाके को घेर लिया था। सुरक्षाबल ने मुठभेड़स्थल पर आतंकियों के घरवालों को बुलाया। घरवालों ने उनसे सरेंडर की अपील की। घरवालों के मनाने के बाद भी आतंकियों ने सरेंडर करने से मना कर दिया और सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की और दो आतंकियों को मार गिराया।

इलाके को सील कर कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। इससे पहले गुरुवार को दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद व हिजबुल मुजाहिदीन की फिदायीन हमले की साजिश को सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया था। राजपोरा इलाके के आयगुंड में 45 किलो आईईडी से लदी सेंट्रो कार को इंटरसेप्ट कर उसे निष्क्रिय कर दिया गया।

बता दें सुरक्षा बलों ने लॉकडाउन के दौरान कश्मीर में कई आतंकवादियों को समाप्त कर दिया है। इससे पहले 6 मई को हिजबुल मुजाहिदीन के प्रमुख कमांडर रियाज नाइकू को मार गिराया था। नाइकू के सिर पर 12 लाख रुपये का इनाम था।

इसके अलावा 16 मई को सुरक्षाबलों ने डोडा के खोत्रा गांव में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी ताहिर को 5 घंटे चली मुठभेड़ में मार गिराया था। वहीं 19 मई को डाउनटाउन इलाके में हिजबुल मुजाहिदीन के 2 आतंकियों को मार गिराया था। इसमें से एक जुनैद सहराई था जो अलगाववादी संगठन तहरीक-ए-हुर्रियत प्रमुख मोहम्मद अशरफ सहराई का बेटा था।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 19 हाईकोर्ट्स ने प्रवासी मदजूरों की दुर्दशा पर लगाई लताड़, सॉलिसिटर जनरल बोले- लोग चला रहे समानांतर सरकार
2 दस में से नौ प्रवासी मजदूरों का पैसा कंपनियों में फंसा, भुगतान का कर रहे इंतजार, एक-एक का 1.35 लाख रुपये तक है बकाया!
3 कोरोना के डर से घरवालों ने बनायी दूरी, एसडीओ ने खुद गड्ढा खोद किया बच्ची का अंतिम संस्कार