ताज़ा खबर
 

‘पूरे देश में लागू करा दो NRC, देखें कितने घुसपैठिए हैं?’, मौलाना मदनी की मोदी सरकार को चुनौती

मदनी ने कहा, 'मेरा जी ये चाहता है कि मैं डिमांड करूं की सारे मुल्क में करलो, पता चल जाएगा कि घुसपैठिए कितने हैं। जो असली हैं उनके ऊपर भी दाग लगाया जाता है तो पता चल जाएगा।

Author नई दिल्ली | Updated: September 16, 2019 10:48 AM
मदनी ने कुछ समय पहले ही मुसलमानों से वोटर लिस्ट में अपना नाम संशोधित कराने व शामिल कराने की अपील की थी। (फाइल फोटोः एएनआई)

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के एक वरिष्ठ नेता ने मोदी सरकार को पूरे देश में विवादित नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) को लागू करने की चुनौती दी है। जमीयत के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने कहा कि इस कवायद से यह पता लग जाएगा कि देश में कितने घुसपैठिए हैं।

मदनी ने कहा कि क्या होगा यदि सरकार पूरे देश में एनआरसी को लागू करने का फैसला करती है? उन्होंने कहा कि यदि ऐसा कदम उठाया जाता है उन्हें इससे कोई तकलीफ नहीं होगी। इससे तो देश में ऐसे ‘वास्तविक नागरिकों’ की पहचान हो जाएगी जिन्हें घुसपैठिए के रूप में देखा जा रहा है।

मदनी ने कहा, ‘मेरा जी ये चाहता है कि मैं डिमांड करूं की सारे मुल्क में करलो, पता चल जाएगा कि घुसपैठिए कितने हैं। जो असली हैं उनके ऊपर भी दाग लगाया जाता है तो पता चल जाएगा। मुझे कोई दिक्कत नहीं।’ मदनी ने हाल ही में मुस्लिम समुदाय से राष्ट्रीय कर्तव्य के रूप में वोट लिस्ट में अपना नाम सुधार करवाने और शामिल करवाने की अपील की थी।

जमीयत के नेता ने यह बात असम में एनआरसी के प्रकाशित होने के बाद 19 लाख लोगों के इस सूची से बाहर होने के संदर्भ में कही। इससे पहले जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की थी। यह मुलाकात संघ के दिल्ली स्थित झंडेवाला कार्यालय में हुई थी।

बैठक के बारे में विस्तृत जानकारी तो सामने नहीं आई थी लेकिन दोनों नेताओं ने देश के मौजूदा हालात पर चिंता जताते हुए देश में हिंदू-मुस्लिम के आपसी भाईचारे को लेकर काम करने पर जोर दिया था। बैठक के बाद जमीयत और संघ के बीच नियमित संवाद से जुड़े समन्वय की जिम्मेदारी संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख रामलाल को सौंपी गई थी।

बताया जा रहा था कि बैठक में दोनों समुदाय के बीच शांति और आपसी भाईचारे की हिमायत की गई। इसके बाद मदनी ने बाहर निकलने के बाद दोनों के साथ मिलकर काम करने की बात कही थी। इससे पहले पिछेल साल संघ प्रमुख मोहन भागवत दिल्ली के विज्ञान भवन में मुस्लिम समुदाय को संघ के करीब आने का आह्वान कर चुके थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में पीएम के साथ ट्रम्प भी लेंगे हिस्सा, भारत राजदूत ने बताया ऐतिहासिक और अभूतपूर्व
2 पांच गुना बढ़ा कांग्रेस का चंदा, सोनिया, राहुल ने 54-54 तो नवजोत सिंह सिद्धू ने दिए 35 हजार
3 J&K में बंदिशों के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन में लगे ‘आजादी’ के नारे, की ‘असली लोकतंत्र’ की मांग