हिंदू राष्ट्र नहीं घोषित होने पर दी थी सरयू में जल समाधि की धमकी, अब कह रहे बोतल में नाक डुबाने की बात

परमहंस ने कहा था कि 2 अक्टूबर तक अगर देश को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया, तो सरयू नदी में जलसमाधि ले लेंगे, लेकिन अब वह दूसरी बात कह रहे हैं।

Mahant Paramhansa
महंत परमहंस अब बोतल में नाक डुबाने की बात कह रहे हैं। (फोटो सोर्स-ANI)

भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग पर अड़े महंत परमहंस का मामला सुर्खियों में है। महंत परमहंस ने कहा था कि 2 अक्टूबर तक अगर देश को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया, तो सरयू नदी में जलसमाधि ले लेंगे।

महंत के इस बयान के बाद यूपी समेत पूरे देश में हड़कंप मच गया। महंत के आश्रम के बाहर भारी फोर्स तैनात कर दी गई थी और उन्हें हाउस अरेस्ट कर दिया गया।

अब महंत का दूसरा बयान सुर्खियां बटोर रहा है। इसमें उन्होंने कहा है कि मैंने जो जलसमाधि की घोषणा की थी, उसकी वजह से प्रशासन ने मुझे हाउस अरेस्ट किया है। लेकिन मैंने बोतल में सरयू का जल मंगा लिया है और इसी पानी में नाक डुबोकर हम जल समाधि लेंगे।

बता दें कि रविवार को तपस्वी छावनी में सनातन धर्मसंसद का आयोजन हुआ था। इसके बाद महंत ने 2 अक्टूबर को जल समाधि लेने की बात कही थी क्योंकि वह चाहते थे कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए।

महंत परमहंस हिंदू राष्ट्र की मांग को लेकर पहले पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को पत्र भी लिख चुके हैं। इस दौरान भी उन्होंने आत्मदाह की कोशिश की थी। हालांकि चिता पर बैठते ही पुलिस आ गई थी और पुलिस ने उन्हें रोक लिया था।

वहीं जलसमाधि के मुद्दे पर हिंदू महासभा ने भी महंत का समर्थन किया था और कहा था कि देशभर से एक लाख लोग महंत के साथ सरयू नदी में आत्म आहुति देंगे और इसके लिए अयोध्या में कार्यकर्ता जमा भी होने लगे थे।

हिंदू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव देवेंद्र पांडे ने कहा था कि हमारा उद्देश्य शुरू से ही यही रहा है। करीब 4 महीने पहले हमने सीएम योगी को पत्र भी लिखा था और मांग की थी कि गो हत्या बंद होनी चाहिए और भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित होना चाहिए।

पांडे ने पीएम मोदी को भी पत्र लिखकर ये कहा था कि सरकार को महंत की बात मान लेनी चाहिए, अगर महंत जल समाधि लेते हैं तो इसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी। उन्होंने ये भी कहा था कि हम हिंदू राष्ट्र बनाने की कल्पना के साथ ये आंदोलन कर रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट