ताज़ा खबर
 

जयपुरः कोल्ड स्टोर से गायब हो गईं 320 खुराक, नोडल अफसर बोले- केंद्र से आई थी पूरी खेप, केस दर्ज कराया

राजस्थान के जयपुर के एक सरकारी अस्पताल से कोवैक्सिन की 320 खुराकें कोल्ड-स्टोरेज से गायब बताई जा रही हैं।

covid, coronaकोरोना वैक्सीन की खुराक गायब होने का मामला सामने आया है। (एएनआई)।

राजस्थान के जयपुर के एक सरकारी अस्पताल से कोवैक्सिन की 320 खुराकें कोल्ड-स्टोरेज से गायब बताई जा रही हैं। एचबी कांवटिया अस्पताल ने बताया कि रविवार को 200 खुराक का स्टॉक चेक किया गया था। अगले दिन सोमवार को 489 खुराक अस्पताल को मिली थी। हालांकि, जब स्टॉक को फिर से जांचा गया तो पाया गया कि 320 खुराकें गायब थीं।

सुरक्षा गार्डों को कोल्ड स्टोरेज यूनिट के बाहर तैनात किया गया था जिसमें टीके जमा किए गए थे। अस्पताल ने एक एफआईआर दर्ज की है और जांच चल रही है। यह पता लगाया जा रहा है कि गार्ड्स के रहते टीके कैसे गायब हो गए? पुलिस अस्पताल की सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रही है। वैक्सीनेशन सेंटर के नोडल अधिकारी ने बताया, ” खुराक का व्यवस्थित रिकॉर्ड हमारे पास है। इसलिए ये मुश्किल है कि टीके स्टोर से गायब हुए हों।” इस मामले पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कांग्रेस के नेतृत्व वाली राज्य सरकार पर “विफलताओं के रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन” का आरोप लगाते हुए करारा हमला बोला। भाजपा नेता ने ट्वीट किया, “देश के वैक्सीन चोरी का इकलौता मामला राजस्थान से! राज्य सरकार की सरपरस्ती में अपराधियों के हौंसले इतने बुलंद है कि कोरोना भी इनके आगे फेल है। विफलताओं में रिकॉर्ड तोड प्रदर्शन के लिए मुख्यमंत्री जी को बधाई!”

ये मामला ऐसे वक्त में सामने आया है जब देश कोरोना मामलों में भारी बढ़ोतरी का सामना कर रहा है। पिछले 24 घंटों में 1.84 लाख नए मामले सामने आए हैं। 7 अप्रैल से हर रोज एक लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। इस बीच जीवन रक्षक दवाओं की सप्लाई में कमी की जानकारी भी सामने आई है।

आज जयपुर में 24 घंटे में 1,325 नए मामले दर्ज किए गए। राजस्थान में एक्टिव मामलों की संख्या 40,000 के पार चली गई है। पंजाब, महाराष्ट्र और दिल्ली के बाद अब राजस्थान ने भी कोरोना वैक्सीन की कमी की शिकायत की है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा और कहा कि राज्य में टीकाकरण केंद्र 48 घंटे में बंद हो जाएंगे। इस बीच केंद्र का कहना है कि वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक है। केंद्र ने राज्यों को कुप्रबंधन के लिए दोषी ठहराया है।

बता दें कि सोमवार को केंद्र ने देश में इस्तेमाल के लिए रूस की Sputnik-V वैक्सीन को मंजूरी दे दी। केंद्र ने अब और अधिक वैक्सीनों के आवेदन भी मांगे हैं, जिसमें फाइजर भी शामिल है।

Next Stories
1 Twitter मजा: ये हिन्दुस्तानी मास्क किस जगह बांधते हैं! कुम्भ की फोटो पोस्ट कर लिए जा रहे मजे
2 कुंभ मेला रहेगा जारी, समय से पहले खत्म होने पर कोई चर्चा नहीं
3 वैक्सीन की कमी पर सफाई देती रही सरकार, इधर जीवनरक्षक रेमडेसिविर की पड़ गई कमी; अब सरकार ने दी दोगुने उत्पादन की मंजूरी
यह पढ़ा क्या?
X