ताज़ा खबर
 

JU प्रोफेसर ने लगाया BJP वर्कर पर धक्कामुक्की का आरोप, कहा ‘मेरी खून की प्यासी हो गईं थी कार्यकर्ता’

सहायक प्रोफेसर दोयीता मजूमदार ने फेसबुक पर लिखा, ‘मैं सीएए-विरोधी रैली से लौट रही थी, तभी भाजपा की भद्र महिलाओं ने मेरे साथ धक्कामुक्की और दुर्व्यवहार किया।’

Author कोलकाता | Updated: December 31, 2019 6:30 PM
प्रतिकात्मक तस्वीर, फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस

कोलकाता के यादवपुर विश्वविद्यालय की एक महिला प्रोफेसर ने आरोप लगाया कि संस्थान के परिसर के पास भाजपा की कुछ महिला कार्यकर्ताओं ने उनके साथ ‘धक्कामुक्की’ की। प्रोफेसर का कहना है कि भगवा संगठन के एक सदस्य द्वारा संस्थान और एक विशेष समुदाय के खिलाफ की गई कथित अपमानजनक टिप्पणी का विरोध करने पर उनके साथ यह सलूक किया गया। मामले में भाजपा नेतृत्व ने हालांकि, घटना में किसी भी तरह की शामिल होने से इनकार किया है और कहा कि कई ‘घोर वाम समर्थकों’ ने सोमवार को परिसर के नजदीक पार्टी की एक बैठक वाली जगह के आसपास प्रदर्शन किया, लेकिन उसके कार्यकर्ताओं ने संयम बनाए रखा था।

जेयू प्रोफेसर ने क्या कहाः मामले में विश्वविद्यालय के अंग्रेजी विभाग की सहायक प्रोफेसर दोयीता मजूमदार ने फेसबुक पर लिखा, ‘मैं सीएए-विरोधी रैली से लौट रही थी, तभी भाजपा की भद्र महिलाओं ने मेरे साथ धक्कामुक्की और दुर्व्यवहार किया।’ मजूमदार ने दावा किया कि महिलाएं ‘उसके खून की प्यासी हो गई थीं’ और इस घटना ने उन्हें काफी डरा दिया है।

Hindi News Today, 31 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

भगवा कार्यकर्ता ने जेयू के बारे में कहा भला बुराः दोयीता मजूमदार ने कहा कि भगवा कार्यकर्ता खुलेआम ऊटपटांग बातें बोल रही थीं… कुछ देर तक तो ठीक रहा, फिर उन्होंने संस्थान के बारे में भी भला-बुरा बोलते हुए कहा कि ‘यह विश्वविद्यालय सभी बुराइयों की जड़ है, वह सब प्रतिदिन अल्लाहु अकबर बोलते हैं। इसपर मुझे गुस्सा आया और मैंने दो बार जोर से चिल्ला कर कहा कि यह सब मिथ्या कोठा (झूठ-झूठ) है।’

बीजेपी ने किया इनकारः राज्य भाजपा के सूत्रों के अनुसार, पार्टी के राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता, बोंगांव से लोकसभा सांसद, शांतनु ठाकुर और राज्य के वरिष्ठ भाजपा नेता शमिक भट्टाचार्य सोमवार (30 दिसंबर) को परिसर के बाहर हुई बैठक में शामिल थे। भट्टाचार्य ने कहा, ‘जब हम एक बैठक कर रहे थे, तब घोर वाम दलों के कुछ समर्थक कार्यक्रम स्थल के पास आ कर नारे लगाने लगे। उन्होंने हमारे कार्यकर्ताओं को भी धक्का दिया। लेकिन हमने संयम बनाए रखा। हमारे कार्यकर्ता किसी भी हमले में शामिल नहीं हैं।’

Next Stories
1 मोदी सरकार ने खोला पिटारा, FM निर्मला सीतारमण का ऐलान- अगले 5 साल में बुनियादी परियोजनाओं पर खर्चेंगे 102 लाख करोड़ रुपए
2 बिहार में सीट बंटवारे पर प्रशांत किशोर और बीजेपी नेताओं की बयानबाजी के बीच आया CM नीतीश कुमार का बयान
3 हरियाणा के मंत्री अनिल विज का प्रियंका गांधी पर हमला, कहा- जिसे अपने दादा के धर्म की जानकारी नहीं है, वह हिंदू धर्म के बारे में क्या जानेगा
ये पढ़ा क्या?
X