ताज़ा खबर
 

दैनिक भास्कर और भारत समाचार के ठिकानों पर IT की रेड, दिग्विजय बोले- पत्रकारिता पर मोदीशाह का प्रहार

कांग्रेस नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर कहा कि आयकर विभाग के अधिकारी समूह के करीब छह परिसरों पर “मौजूद हैं”। इनमें राज्य की राजधानी भोपाल में प्रेस कॉम्प्लेक्स में उसका कार्यालय भी शामिल है।

भोपाल में दैनिक भास्कर समूह का कार्यालय (फोटो- ANI)

आयकर विभाग ने कर चोरी के आरोपों में मीडिया समूह दैनिक भास्कर और भारत समाचार के विभिन्न शहरों में स्थित परिसरों पर गुरुवार को छापे मारे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि छापेमारी भास्कर समूह के  भोपाल, जयपुर, अहमदाबाद और कुछ अन्य स्थानों पर की गयी है। वहीं भारत समाचार के प्रमोटर्स और एडिटर-इन-चीफ के ठिकानों पर भी आयकर विभाग की तरफ से कार्रवाई की गयी है।

हालांकि अभी तक विभाग या उसके नीति निर्माण निकाय से किसी तरह की आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है लेकिन आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक यह कार्रवाई विभिन्न राज्यों में संचालित हिंदी मीडिया समूह के प्रमुखों के खिलाफ चल रही है। कांग्रेस नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर कहा कि आयकर विभाग के अधिकारी समूह के करीब छह परिसरों पर “मौजूद हैं”। इनमें राज्य की राजधानी भोपाल में प्रेस कॉम्प्लेक्स में उसका कार्यालय भी शामिल है। बताते चलें कि कोरोना संकट के दौरान दैनिक भास्कर की तरफ से कई ग्राउंड रिपोर्ट किए गए थे।

बताते चलें कि आयकर विभाग की तरफ से यह कार्रवाई ऐसे समय में हुई है जब संसद का मॉनसून सत्र चल रहा है। विपक्षी दल पेगासस जासूसी मामले को लेकर सरकार पर लगातार हमलावर रहे हैं। विपक्षी दलों के आरोपों के बीच सरकार ने गुरुवार को कहा कि एजेंसियां अपना का करती हैं और ‘‘इनमें हमारा कोई हस्तक्षेप नहीं होता ।’’ सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बारे में संवाददाताओं के सवालों के जवाब में यह बात कही ।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पूरी जानकारी जरूर लेनी चाहिए । कई बार जानकारी के अभाव में भी बहुत सारे विषय ऐसे आते हैं जो सत्य से परे होते हैं।ठाकुर ने कहा, ‘‘ एजेंसियां अपना काम करती हैं और उन पर हमारा कोई हस्तक्षेप नहीं होता है । ’’

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘दैनिक भास्कर’ और ‘भारत समाचार’ पर आयकर के छापों को मीडिया को डराने की कोशिश बताते हुए मांग की कि ऐसी कार्रवाई तुरंत रुकनी चाहिए और मीडिया को स्वतंत्र तरीके से काम करने देना चाहिए।

Next Stories
1 ‘भारत में अब तक कोरोना से 34 से 49 लाख मौत होने की आशंका’
2 इस सरकार के लिए झूठ ही ऑक्सिजन, ईश्वर दोषी, मोदी जी निर्दोष- अपना प्राइम टाइम विडियो शेयर कर रवीश कुमार ने पीएम पर मारा ताना
3 भारी पड़े महामारी के पहले 14 महीने, एक लाख से ज्यादा भारतीय बच्चे हुए अनाथ
ये पढ़ा क्या ?
X