ताज़ा खबर
 

विशेषज्ञ की कलम से:विज्ञापन की दुनिया में अपना भविष्य चमकाएं

दुनियाभर में विज्ञापन उद्योग में काम करने वाले लोगों की हमेशा मांग बनी रही है। क्योंकि कोई भी कंपनी जो भी उत्पाद और सेवा से जुड़ी हुई है, वह जानती है कि बिना विज्ञापन के उनका उत्पाद एक रद्दी का ढेर मात्र है।

विज्ञापन सदैव से लोगों के आकर्षण के केंद्र रहे हैं। कुछ विज्ञापन तो सालों साल तक याद किए जाते हैं। लेकिन एक विज्ञापन को बनाने की पीछे कितनी बड़ी टीम काम करती है, यह कोई नहीं जानता। साथ ही इसमें काम करने वालों का वेतन कितना होता है, यह भी बहुत कम लोग ही जानते हैं। इसलिए इस विषय पर बात करना न केवल समय की मांग है बल्कि उन विद्यार्थियों के लिए एक बहुत बड़ा अवसर भी जो इस क्षेत्र में अपना करिअर बनाना चाहते हैं।

मांग और आपूर्ति

दुनियाभर में विज्ञापन उद्योग में काम करने वाले लोगों की हमेशा मांग बनी रही है। क्योंकि कोई भी कंपनी जो भी उत्पाद और सेवा से जुड़ी हुई है, वह जानती है कि बिना विज्ञापन के उनका उत्पाद एक रद्दी का ढेर मात्र है। जब तक की वह उपभोक्ता की नजरों के सामने न आए। इसलिए विज्ञापन को बाजार का प्रवेश द्वार कहा जाता है। इस क्षेत्र में ऐसे लोगों की मांग हमेशा रहती है जिसमें रचनात्मकता विद्यमान होती है और जो निरंतर कुछ न कुछ नया लिखते रहते है। इस क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए बहुआयामी प्रतिभा का होना बहुत आवश्यक है।

विज्ञापन उद्योग का आकार

्नए एक ताजा रिपोर्ट को यदि माने तो पूर्णबंदी होने के बावजूद भी भारतीय विज्ञापन बाजार में 10.9 फीसद की वृद्धि जारी है.। इसके चलते 2020 के अंत तक विज्ञापन उद्योग आकार बढ़कर 75,952 करोड़ रुपए हो जाएगा। जबकि यदि इतनी ही वृद्धि जारी रहती है तो इसका आकार बढ़कर 2025 तक 1,33,921 करोड़ का हो जाएगा। वैश्विक स्तर पर भी भारतीय विज्ञापन उद्योग की स्थिति हमेशा ऊंची रही है और यहां के लोगों की रचनात्मकता, रोचक व नवीन विचारों से युक्त प्रतिभा को राष्ट्रीय के साथ साथ अंतरराष्ट्रीय एजंसियों ने हमेशा तरजीह दी हैं।

रोजगार के अवसर

विज्ञापन का क्षेत्र कई तरह के लोगों से मिलकर बनता है। मसलन यहां मार्केटिंग से लेकर बिक्री और मीडिया से लेकर साहित्य तक के सभी लोगों की आवश्यकता होती है। इसीलिए जो विद्यार्थी यहां प्रबंधन या मीडिया का पाठ्यक्रम करके आते हैं, उनके लिए यहां रोजगार की अपार संभावनाएं होती हैं। जैसे अकाउंट एग्जीक्यूटिव, मीडिया प्लानिंग, आर्ट डायरेक्टर, डिजाइनर, एनिमेटर, कॉपीराइटर, क्रिएटिव डायरेक्टर, फोटोग्राफर, टाइपोग्राफ इत्यादि। इस क्षेत्र की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसमें काम करते हुए आत्मसंतुष्टि का बोध होता है।

क्योंकि आप इस जगह पर रहकर कुछ न कुछ सदैव नया करने के लिए प्रयासरत रहते हैं। दूसरा, देश के अग्रणी उद्योगों में शामिल होने के कारण लगातार आगे बढ़ने की अपार संभावनाएं मौजूद होती है। तीसरा, उच्च वेतन के साथ कार्य आधारित इनसेंटिव्स भी लगातार मिलते रहते है। चौथा, उद्योग जगत की मशहूर हस्तियों से मिलने का मौका मिलता रहता हैं। प्रतिदिन नवीनता के कारण आप इस क्षेत्र में काम करते हुए बोर नहीं होते है।

किसके लिए हैं संभावनाएं

कहने को तो इस क्षेत्र में कोई भी अपनी जगह बना सकता है। यह एक व्यक्ति के व्यक्तिगत प्रतिभा और रुचि वाला क्षेत्र है। लेकिन प्राय: जिन विद्यार्थियों के लिए हमेशा बेहतर विकल्प मौजूद होता है, उसमें एमबीए, पत्रकारिता और जनसंचार में डिग्री या डिप्लोमा, विज्ञापन और जनसंपर्क में डिग्री या डिप्लोमा, साहित्य में डिग्री धारी लोगों के लिए यहां कार्य करने की अनंत संभावनाएं उपलब्ध होती हैं।

वेतनमान

यहां काम करने वाले लोगों के वेतन की कोई सीमा नहीं होती है, बशर्ते की आपके भीतर रचनात्मक प्रतिभा मौजूद हो। कई बार तो एक कॉपीराइटर को एक स्लोगन लिखने के 20 से 30 लाख रुपए तक मिल जाते हैं। तो कई बार छोटी और मंझले स्तर की कंपनियों में एक ही व्यक्ति से कई तरह के काम एक साथ कराए जाते हैं और वेतन 30 से 40 हजार रुपए तक महीना जाता है।

यह पूरी तरह से विज्ञापन एजंसियों के आकार और उसके टर्नओवर के आधार पर वेतनमान निर्भर करता है। सबसे बड़ी बात इस क्षेत्र की यह है कि आप किसी भी एजंसी में छोटे से काम से अपनी नौकरी प्रारंभ करके सफलता की सीढ़ी चढ़कर एक दिन इसके प्रमुख भी बन सकते है। यहां आपके कार्य करने की क्षमता एवं अनुभव बढ़ने के साथ ही आपका वेतनमान भी बढ़ता रहता है।

प्रमुख संस्थान

भारतीय जनसंचार संस्थान, अरुणा आसफ अली मार्ग, नई दिल्ली
ग्दिल्ली स्कूल आफ जार्नलिज्म, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
ग्मुद्रा इंस्टीटयूट आॅफ कम्युनिकेशन, अमदाबाद, गुजरात
ग्सिम्बोयासिस इंस्टीटयूट आॅफ मीडिया कम्युनिकेशन, पुणे
ग्जेविअर इंस्टीटयूट आॅफ कम्युनिकेशन, मुंबई,

– संजय सिंह बघेल
शिक्षक, दिल्ली विश्वविद्यालय

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 परामर्श: सफलता के लिए जरूरी है समझदारी और सकारात्मकता
2 जानें-सीखें : कॅप्चा से मानव या मशीन की होती है पहचान
3 वीडियोकॉन-ICICI लोन केस में चंदा कोचर व अन्य के खिलाफ ‘5 ट्रंक’ डॉक्यूमेंट लेकर चार्जशीट दाखिल करने पहुंची ईडी
यह पढ़ा क्या?
X