किसी टॉम, डिक या हैरी के केस दर्ज कराने से नहीं पड़ता फर्क- पटना कोर्ट के आदेश पर बोले तेजस्वी

संजीव कुमार सिंह नाम के एक शख्स ने आरोप लगाया है कि 2019 के आम चुनावों में सांसद की टिकट के लिए उससे पांच करोड़ रुपए लिए गए। उसके बाद भी उन्हें टिकट नहीं दिया गया।

tejaswi yadav, jdu leader
जेडीयू नेता ने तेजस्वी यादव पर उठाए सवाल तो भड़कीं न्यूज ऐंकर (फोटो क्रेडिट- इंडियन एक्सप्रेस)

राजद नेता तेजस्वी यादव पर एक शख्स ने आरोप लगाया है कि उन्होंने चुनाव टिकट के लिए उनसे पांच करोड़ लिए गए थे। इस मामले में तेजस्वी यादव का कहना है कि किसी टॉम, डिक या हैरी के केस दर्ज कराने से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। तेजस्वी यादव पर पटना की कोर्ट ने केस दर्ज करने का आदेश दिया है। टॉम, डिक हैरी एक हिन्दी कॉमेडी फिल्म है जिसमें गूंगे, बहरे और नेत्रहीन, तीन दोस्तों की कहानी दिलचस्प अंदाज में पेश की गई है।

दरअसल संजीव कुमार सिंह नाम के एक शख्स ने आरोप लगाया है कि 2019 के आम चुनावों में सांसद की टिकट के लिए उससे पांच करोड़ रुपए लिए गए थे। उसके बाद भी उन्हें टिकट नहीं दिया गया। कई बार मांगने पर भी पैसे वापस नहीं मिले तो उन्हें पटना सीजेएम कोर्ट के अलावा कोई और रास्ता नजर नहीं आया। तेजस्वी ने सारे मामले को हवा में उड़ाते हुए बेतकल्लुफी से टॉम, डिक या हैरी का जिक्र कर बताने की कोशिश की उनकी सेहत पर इससे फर्क नहीं पड़ता।

पटना की सीजेएम कोर्ट ने तेजस्वी यादव और उनकी बहन मीसा भारती के खिलाफ केस दर्ज करने का आदेश दिया है। शिकायतकर्ता संजीव कुमार सिंह खुद वकील हैं। वो कहते हैं कि भागलपुर से टिकट मिलने का उन्हें भरोसा दिलाया गया। इसके लिए पैसे की मांग की गई। लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला। अपने पैसे की वापसी की मांग को करते रहे लेकिन उसकी अनसूनी की गई। जब उनके पास कोई रास्ता नहीं बचा तो अदालत का दरवाजा खटखटाया।

तेजस्वी ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग करते हुए कहा कि इसके बाद ही सच सामने आ सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर आरोप गलत साबित होते हैं तो शिकायत करने वाले शख्स के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। हालांकि, इस मामसे में सबसे बड़ा पेंच यह है कि पांच करोड़ की रकम कहां से आई। संजीव को बताना होगा कि जो रकम उसने तेजस्वी के पास पहुंचाई उसे उन्होंने कहां से जुटाया? संजीव ने अपनी शिकायत में छह लोगों के नाम लिए हैं। इसमें कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य नेताओं के भी नाम हैं।

उधर, राजद का कहना है कि तेजस्वी यादव की लोकप्रियता देख उन्हें बदनाम करने की साजिश रची जा रही है। पार्टी ने कहा कि हमें न्यायिक प्रक्रिया पर भरोसा है। कांग्रेस ने कहा है कि संजीव सिंह कांग्रेस पार्टी का सदस्य नहीं है। इस व्यक्ति ने भावी मुख्यमंत्री के उम्मीदवार का पोस्टर लगा लिया था। इतने से भी मन नहीं भरा तो देश के भावी प्रधानमंत्री का पोस्टर लगा लिया था। इस तरह की हरकत कोई विक्षिप्त व्यक्ति ही कर सकता है। कांग्रेस कोर्ट में सारे प्रमाण देकर सच बताएगी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट