ताज़ा खबर
 

इसरो: जीसैट-7ए उपग्रह हुआ लॉन्च, इस सेटेलाइट से 100 गीगाबाइट होगी इंटरनेट स्पीड

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपने संचार उपग्रह जीसैट-7ए को लॉन्च करने के लिए काउंटडाउन शुरू कर दिया है। यह सेटेलाइट बुधवार दोपहर 2:10 बजे श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाएगा।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फाइल फोटो)

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपने संचार उपग्रह जीसैट-7ए को लॉन्च  कर दिया है। यह सेटेलाइट आज (बुधवार) श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया गया। इस सेटेलाइट से इंटरनेट की स्पीड 100 गीगाबाइट तक होने की उम्मीद है। इसरो द्वारा निर्मित जीसैट-7ए का वजन 2,250 किलोग्राम है।

जीएसएलवी-एफ11 की यह 13वीं उड़ान है और 7वीं बार यह स्वदेशी क्रायोनिक इंजन के साथ लॉन्च हुआ है। यह कू-बैंड में संचार की सुविधा उपलब्ध करवाएगा। इसरो का यह 39वां संचार उपग्रह है। इसे खासकर भारतीय वायुसेना को बेहतर संचार सेवा देने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया है।

संचार सेटेलाइट जीसैट-7ए को उपग्रह प्रक्षेपण यान जीएसएलवी-एफ-11 के जरिए श्रीहरिकोटा सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे स्टेशन से लॉन्च किया गया। इसरो ने पांच दिसंबर को यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी एरियानेस्पेस के फ्रेंच गुआना से संचाल सेटेलाइट जीसैट-11 के सफल प्रक्षेपण के बाद ही 35वें संचार सेटेलाइट ‘जीसैट-7ए’ के प्रक्षेपण की घोषणा कर दी थी।

 

इसरो के अनुसार, दिसंबर में लॉन्च हो रहे दोनों संचार सेटेलाइट देश में संचार सुविधाएं बेहतर करेंगे। इसका सबसे ज्यादा लाभ इंटरनेट यूजर्स को मिलेगा। माना जा रहा है कि इससे इंटरनेट की रफ्तार तेज होगी। जीसैट-7ए भारतीय क्षेत्र में केयू बैंड में उपयोगकर्ताओं को संचार क्षमता बढ़ाएगा। यह सेटेलाइट आठ साल तक काम करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App