ताज़ा खबर
 

रिश्‍वत देते-देते थक गया, अब आत्‍महत्‍या कर रहा हूं- ‘बैंक’ मालिक के ऑडियो से मचा हड़कंप, विधायक पर 400 करोड़ नहीं लौटाने का आरोप

आईएमए जो कि एक इस्लामिक बैंकिंग और हलाल इंवेस्टमेंट फर्म है, की स्थापना वर्ष 206 में हुई थी। फर्म ने अपने काम को पोंजी स्कीम में बदलने से पहले निवेशकों को 14 से 18 प्रतिशत प्रति माह रिटर्न देने का वादा किया था।

Author बेंगलुरु | June 11, 2019 2:47 PM
तस्वीर का प्रयोग प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कर्नाटक की राजधानी बैंगलुरु के शिवाजीनगर स्थित वित्तिय फर्म आई मोनेटरी एडवायजरी (IMA) के संस्थापक और मालिक मोहम्मद मंसूर खान का एक ऑडियो वायरल हुआ है जिसमें वे कहते सुने जा रहे हैं कि ‘भ्रष्ट नेताओं और नौकरशाहों को रिश्वत देते-देते थक चुके हैं। अपनी जिंदगी समाप्त करने जा रहे हैं।’ उन्होंने कांग्रेस विधायक रोशन बेग पर 400 करोड़ रुपये नहीं लौटाने का आरोप लगाया है। इसके बाद पुलिस यह पता कर रही है कि कहीं सही में खान ने आत्महत्या तो नहीं कर ली। पुलिस खान और उसके परिजनों की तलाश में है। वहीं, ऑडियो वायरल होने के बाद ऑफिस के बाहर सोमवार की सुबह सैंकड़ों की संख्या में निवेशक जमा हो गए और हंगामा करने लगे।

टीओआई की रिपोर्ट के अनुसार, कथित तौर पर शहर के पुलिस कमिशनर को संबोधित करते हुए एक ऑडियो में खान ने आरोप लगाया कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता और शिवाजीनगर के विधायक रोशन बेग ने उनसे 400 करोड़ रुपये लिए थे और लौटाने से मना कर दिया। साथ ही जान से मारने की धमकी दी। यह ऑडियो क्लिप तेजी से वाट्सअप पर शेयर हुआ जिसके बाद वित्तिय फर्म में निवेश करने वाले सैंकड़ों की संख्या में निवेशक आईएमए के ऑफिस पहुंचे और हमला करने की कोशिश की। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए मौके पर काफी संख्या में जवानों को तनात किया गया है। स्थिति नियंत्रण में है।

आईएमए जो कि एक इस्लामिक बैंकिंग और हलाल इंवेस्टमेंट फर्म है, की स्थापना वर्ष 206 में हुई थी। फर्म ने अपने काम को पोंजी स्कीम में बदलने से पहले निवेशकों को 14 से 18 प्रतिशत प्रति माह रिटर्न देने का वादा किया था। इस वादे के सहारे कंपनी ने निवेशकों से करीब 2000 करोड़ रुपये इकट्ठा कर लिए। इसके ज्यादातर निवेशक मुस्लिम समुदाय से हैं।

मोहम्मद मंसूर खान के बिल्डिंग प्रोजेक्ट के पार्टनर मोहम्मद खालिद अहमद ने कॉमर्शियल स्ट्रीट पुलिस स्टेशन में खान के खिलाफ 1.3 करोड़ रुपये ठगी के आरोप में शिकायत दर्ज करवायी। इस शिकायत के एक दिन बाद ही कथित तौर पर खान का ऑडियो क्लिप वायरल हुआ।

वहीं, इस मामले पर कांग्रेस नेता रोशन बेग ने कहा कि आईएमए के साथ उन्होंने किसी तरह का वित्तिय लेनदेन नहीं किया है। यह ऑडियो क्लिप कांग्रेस पार्टी में मौजूद उनके विरोधियों द्वारा साजिश के तहत छवि खराब करने के लिए सामने लाया गया है। बेग ने कहा, “मुझे ऑडियो क्लिप की सत्यता पर संदेह है क्योंकि यह दूसरी बार है जब मेरा नाम हाल ही में आईएमए के वित्तीय लेनदेन से जोड़ा जा रहा है। बीते 1 जून को, व्हाट्सएप पर एक मैसेज में कहा गया था कि मैं आईएमए में किए गए निवेश के लिए गारंटी देता हूं और मैं रिटर्न सुरक्षित करूंगा।” बेग ने कहा कि वे इस मामले में वे साइबर पुलिस के पास शिकायत करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X