scorecardresearch

पांव पसार रहा ISIS का नया मॉड्यूल! दिल्‍ली और यूपी के 17 ठिकानों पर छापेमारी, 10 गिरफ्तार

आईएसआईएस के इस नये मॉड्यूल का नाम ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ बताया जा रहा है। एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि इस मामले में अभी भी ‘छापेमारी जारी है।’

ISIS
एनआईए की छापेमारी में हुआ IS मॉड्यूल का खुलासा। (FILE PIC/REPRESENTATIONAL)

राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने खूंखार आतंकी संगठन इस्‍लामिक स्‍टेट (ISIS) के नए मॉड्यूल का पता लगाया है। जांच एजेंसी ने उत्‍तर प्रदेश और ि‍दिल्‍ली में छापेमारी कर 16 संदिग्‍धों को हिरासत में लिया था। पूछताछ के बाद इनमें से 10 को गिरफ्तार कर लिया गया। संदिग्‍धों के ठिकानों से बड़ी मात्रा में विस्‍फोटक और अन्‍य संवेदनशील सामग्रियां बरामद की गई हैं। एनआईए के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) ने बताया कि ISIS के नए मॉड्यूल का नाम ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ है और इस गैंग का सरगना मुफ्ती सुहैल नामक शख्‍स है। वह मूल रूप से उत्‍तर प्रदेश के अमरोहा का रहने वाला बताया गया है। फिलहाल वह दिल्‍ली में रह रहा था। एनआईए ने यह छापेमारी यूपी एटीएस के साथ मिलकर की। संदिग्‍धों के ठिकानों से साढ़े सात लाख रुपए, 100 मोबाइल फोन, सौ से ज्‍यादा अलार्म घड़ी, 135 सिम कार्ड, लैपटॉप और मेमोरी कार्ड जब्‍त किया गया है। इसके अलावा देशी रॉकेट लॉन्‍चर भी बरामद किया गया है।

निशाने पर थे राजनेता: एनआईए के आईजी ने बताया कि संयुक्‍त दल ने सीलमपुर दिल्‍ली), अमरोहा, हापुड़, मेरठ और लखनऊ (यूपी) में एकसाथ छापे मारे थे। यहां से बड़ी मात्रा में विस्‍फोटक बरामद किए गए हैं। उन्‍होंने बताया कि आईएसआईएस आतंकियों के निशाने पर राजनेता और महत्‍वपूर्ण हस्तियां थीं। इसके अलावा संवेदनशील सुरक्षा प्रतिष्‍ठानों पर भी हमला करने की साजिश रची गई थी। आईजी ने बताया कि संदिग्‍ध आतंकी हमला करने की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे थे। एनआईए की मानें तो रिमोट कंट्रोल और आत्‍मघाती हमलावरों की मदद से आतंकी हमले को अंजाम देने की साजिश रची गई थी।

फिलहाल हिरासत में लिए गए संदिग्धों से आतंकी फंडिंग आदि को लेकर जांच एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं। उल्लेखनीय है कि यह दूसरी घटना है, जब उत्तर प्रदेश में आईएसआईएस के मॉड्यूल का खुलासा हुआ है। इससे पहले 9 मार्च, 2017 को भी एनआईए ने आईएसआईएस के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था। इसके साथ ही भारत के दक्षिणी राज्य केरल से भी आतंकी संगठन से जुड़ाव की कुछ खबरें सामने आयीं थी। केरल से कुछ लोग तो आईएसआईएस में शामिल होने के लिए सीरिया और इराक भी जा चुके हैं।

बता दें कि ISIS लगातार भारत में घुसपैठ की कोशिशों में लगा है। लेकिन भारतीय सुरक्षा एजेंसियों के चौकन्ना रहने के चलते अभी तक उसकी ये कोशिशें कामयाब नहीं हो सकी हैं। ताजा घटना से पहले भी देश के अलग-अलग हिस्सों से ISIS विभिन्न मॉड्यूल के ठिकानों पर छापेमारी कर आतंकी संगठन के मंसूबों को नाकाम किया गया है। इससे पहले इसी साल जुलाई माह के दौरान भी एनआईए ने कई राज्यों में छापेमारी कर ISIS के भारत में पांव पसारने की कोशिशों को नाकाम कर दिया था। ये छापेमारी कर्नाटक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश में की गईं थी। जिनमें सुरक्षा एजेंसियों ने 16 संदिग्धों को हिरासत में लिया था।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X