ताज़ा खबर
 

खतरा बनकर उभरा आइएस : राजनाथ सिंह

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को इस बात पर चिंता जताई कि कुछ भारतीय युवक आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार इसे चुनौती के रूप में ले रही है क्योंकि इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता। सिंह ने पाकिस्तान के सरकार समर्थित तत्वों पर […]

Author Updated: November 30, 2014 8:35 AM

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को इस बात पर चिंता जताई कि कुछ भारतीय युवक आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएस) के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार इसे चुनौती के रूप में ले रही है क्योंकि इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता। सिंह ने पाकिस्तान के सरकार समर्थित तत्वों पर भारत को अस्थिर करने का प्रयास करने का आरोप लगाया और कहा कि वे ‘विभिन्न हथकंडे’ अपनाकर इस देश को नुकसान पहुंचाने की अपनी कोशिशें जारी रखे हुए हैं।

इराक में आइएस के लिए लड़ाई करने के बाद एक युवक के स्वदेश लौटने के संदर्भ में कहा कि भले ही इस आतंकवादी समूह का उदय अरब की धरती पर हुआ लेकिन भारतीय उपमहाद्वीप इस समस्या से अछूता नहीं रह सकता और इसे समझने की जरूरत है। भारतीय उप महाद्वीप के लिए कायदा-उल-जेहाद नामक शाखा खोलने के अलकायदा के एलान को खतरा करार देते हुए उन्होंने कहा कि इस वैश्विक आतंकवादी संगठन की मंशा बांग्लादेश, असम, गुजरात, जम्मू कश्मीर और देश के कुछ अन्य हिस्सों को अपनी गिरफ्त में लेने की है जो भारत होने नहीं देगा।

गृह मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान भारत में विध्वंसक गतिविधियों में ‘गैर सरकारी संगठनों का हाथ होने’ का बहाना जारी रखे हुए है। लेकिन अगर भारत में आतंकवादी हरकतों में सिर्फ गैरसरकारी तत्व शामिल हैं तो क्या आइएसआइ सरकार से इतर संगठन है? ये राज्य प्रायोजित संगठन हैं जिनकी हमारे देश को अस्थिर करने के प्रयासों में भूमिका है। पाकिस्तान ने विभिन्न हथकंडों के जरिए भारत को नुकसान पहुंचाने की अपनी कोशिशें नहीं छोड़ी हैं।

सिंह ने कहा कि कई विदेशी आतंकवादी संगठन मानते हैं कि चूंकि भारत में बड़ी संख्या में मुसलिम रहते हैं इसलिए वे उन्हें भर्ती कर सकते हैं और इस्लामी देश के निर्माण के लिए जंग छेड़ सकते हैं। लेकिन भारतीय मुसलमान देशभक्त हैं और वे स्वतंत्रता के समय से ही अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए लड़ रहे हैं। भारतीय मुसलमान हमेशा देश की सुरक्षा और संप्रभुता की रक्षा के लिए मुस्तैद रहे हैं। इसलिए ये आतंकवादी संगठन अपनी मंशा में कामयाब नहीं होंगे।

पश्चिम बंगाल के बर्दवान में दो अक्तूबर को हुए विस्फोटों का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि इस घटना से स्पष्ट है कि कई विदेशी शक्तियां अपने नापाक मंसूबों के लिए भारत की धरती का दुरुपयोग कर रही हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमें इन सभी शक्तियों पर अपनी ताकत से अंकुश लगाना है।
गृह मंत्री ने अलकायदा की दक्षिण एशिया शाखा के आतंकवादियों द्वारा पाकिस्तानी नौसेना के पोत का अपहरण करने के विफल प्रयास के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि आतंकवादी समूह पाकिस्तानी नौसैनिक जहाज का अपहरण कर उसके जरिए अमेरिकी और भारतीय नौसैनिक जहाजों को निशाना बनाने की साजिश रच रहे थे।

सिंह ने कहा कि हमारे लिए ज्यादा चिंता की बात यह है कि कुछ पाकिस्तानी नौसैनिक भी इसमें शामिल थे। हमें इस चुनौती से निपटने के लिए खुद को तैयार करना चाहिए और मुझे विश्वास है कि हम विजयी होंगे। उनके नापाक इरादे भारत में कभी पूरे नहीं होंगे।
जम्मू कश्मीर में सितंबर में आई बाढ़ का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि राहत व पुनर्वास कार्यों को तेजी से पूरा करना है अन्यथा आतंकवादी स्थानीय युवकों को लुभाकर अपने पाले में लाने में सक्षम हो सकते हैं।

Next Stories
1 एएमयू के वीसी ने स्मृति ईरानी को लिखा पत्र, राजा महेंद्र प्रताप की जयंती पर ‘सांप्रदायिक तनाव’ की आशंका
2 घर लौटा आइएस में शामिल हुआ मुंबई का युवक आरिफ़ माजिद
3 बैलेट से बुलेट को हराया जम्मू कश्मीर की जनता ने : नरेंद्र मोदी
यह पढ़ा क्या?
X