ताज़ा खबर
 

90 वोट के लिए जनता को शुक्रिया कहने के बाद अब मणिपुर से बाहर एकांतवास पर जाना चाहती हैं इरोम शर्मिला

इरोम कुछ समय के लिए राजनीति से ब्रेक लेना चाहती हैं जिसके लिए केरल में एकांतवास में समय बिताना पसंद करेंगी।

इस साल अपने राज्य में विधानसभा चुनाव में हारने के बाद उन्होंने कोडइकनाल में रहने का निश्चय किया।

मणिपुर विधानसभा चुनाव के नतीजे आयरन लेडी इरोम शर्मिला के लिए किसी बड़े सदमे से कम नहीं साबित हुए। उन्हें महज 90 वोट मिले जिस पर उन्होंने टिप्पणी करते हुए कहा था, “थैंक्स फॉर 90 वोट्स”। नतीजों के बाद इरोम इस हद तक टूट गईं कि वह रो पड़ीं और दोबारा राजनीति में नहीं आने की बात कह दी। वहीं इरोम आगे क्या करेंगी यह कहना थोड़ा मुश्किल हैं। हालांकि उनका दावा है कि वह अफस्पा(आर्मड फॉर्सिस स्पेशल पावर्स ऐक्ट) के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगी लेकिन राजनीति से वह ब्रेक लेना चाहती हैं। वहीं इरोम ब्रेक लेने के लिए केरल जाना चाहती हैं। इरोम कुछ समय के लिए एकांतवास चाहती हैं और इसके लिए वह केरल के एक महिला आश्रम में लगभग 1 महीने के लिए रहेंगी। इरोम ने कहा- “मैं राजनीति में अपने प्रदर्शन के नतीजे देखकर परेशान हूं। ऐसा लगता है कि राजनीति मेरे मतलब की चीज नहीं। मुझे अब ब्रेक की जरूरत है।” इरोम ने आगे कहा- “मैं एक महिला आश्रम में अपना समय बिताकर आत्मनिरीक्षण करने की कोशिश करूंगी”।

इरोम शर्मिला अभी मणिपुर में एक शेल्टर होम में रहती हैं जो एचआईवी बीमारी से ग्रसित बच्चों के लिए बनाया गया है। अपना 16 साल लंबा अनशन खत्म करने के बाद इरोम यहीं पर रहती हैं। बता दें कि मणिपुर विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इरोप ने अलग पार्टी बनाई थी। उन्होंने अपनी अपनी पार्टी को पीपल्स रिसर्जेंस एंड जस्टिस एलाइंस(पीआरजेए) का नाम दिया। पार्टी ने राज्य में महज 3 सीटों पर चुनाव लड़ा और तीनों ही सीटों पर उनकी पार्टी चुनाव हार गई थी। वहीं इरोम शर्मिला खुद तीन बार राज्य में कांग्रेस के मुख्यमंत्री रहे ओक्रम इबोबी सिंह के खिलाफ थोउबाल सीट से चुनाव लड़ा था।

हैरानी की बात यह है कि उन्हें महज 90 वोट मिले थे, जबकि इससे ज्यादा वोट नोटा को मिल गए। NOTA के बटन को 143 वोट मिले। वहीं थोउबाल सीट पर कांग्रेस के ओक्रम इबोबी सिंह को 18649 वोट के साथ जीत मिली थी। उनके बाद दूसरे नंबर पर रहे भारतीय जनता पार्टी के लैतानथेम बसन्ता सिंह रहे। इसके अलावा इरोम ने 14 मार्च को बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने पैसे और अपने बाहुबल का दम दिखाकर विधानसभा चुनाव जीता है।

विधानसभा चुनाव 2017 से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

मणिपुर चुनाव 2017: मणिपुर चुनाव परिणाम, पढ़ें विजेताओं की पूरी लिस्ट

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App