ताज़ा खबर
 

इरोम शर्मिला को अनशन तोड़ने और शादी के एलान पर धमकी, कहा- कई नेताओं की हत्‍या हो चुकी है

मणिपुर की सामाजिक कार्यकर्ता इरोम शर्मिला को एक कट्टर सामाजिक संगठन ने चुनाव लड़ने और बाहरी व्‍यक्ति से शादी करने के संबंध में धमकी दी है।

हैं। शर्मिला ने पांच नवंबर 2000 को अपना अनशन शुरू किया था।

मणिपुर की सामाजिक कार्यकर्ता इरोम शर्मिला को एक कट्टर सामाजिक संगठन ने चुनाव लड़ने और बाहरी व्‍यक्ति से शादी करने के संबंध में धमकी दी है। अलगाववाद की मांग करने वाले संगठन अलायंस फॉर सोशलियस्‍ट यूनिटी कांगलेईपाक(एएसयूके) ने शर्मिला को याद दिलाया कि मुद्दे से दूर होने के बाद और जनता का प्रतिनिधि चुने जाने के बाद कुछ पूर्व क्रांतिकारी नेताओं की हत्‍या हो चुकी है। यह संगठन स्‍वतंत्र मणिपुर की मांग करता है और भारत का नियंत्रण नहीं चाहता। दो अन्‍य उग्रवादी संगठनों कांगलेई यावोल काना लूप और कांगलेईपाक कम्‍युनिस्‍ट पार्टी ने भी शर्मिला से अनशन जारी रखने को कहा है।

44 वर्षीय शर्मिला ने 26 जुलाई को सबको चौंकाते हुए कहा था कि नौ अगस्‍त को वह अपना अनशन समाप्‍त करेंगी। साथ ही उन्‍होंने मीडिया से कहा कि उनका शादी करने का विचार भी है। उनके इस बयान पर उनके परिवार और कुछ संगठनों ने विरोध जताया है। एएसयूके चेयरमैन एन ओकेन और वाइस चेयरमैन कस लाब मैतेई की ओर से जारी बयान में कहा गया, ”जिन भी लोगों ने राजनीति में कदम रखा उन्‍हें पता है कि यह अंत है। हालांकि वह व्‍यक्ति एनआरआई है लेकिन कांगलेईपाक के लोगों की नजरों में वह भारतीय है। जिस एनआरआई के साथ इरोम शादी करना चाहती है उसे सुरक्षा एजेंसियों ने अफ्स्‍पा के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने और औपनिवेशिक प्रभुत्‍व को बनाए रखने के लिए प्‍लांट किया है।” इरोम शर्मिला गोवा-ब्रिटिश कार्यकर्ता डेसमंड कुटिंहो के साथ शादी कर सकती हैं।

कांगलेईपाक मणिपुर का पुराना नाम है। शर्मिला सेना को दिए गए आर्म्‍ड फोर्सेज एक्‍ट के खिलाफ अनशन पर हैं। शर्मिला ने पांच नवंबर 2000 को अपना अनशन शुरू किया था। उन्‍होंने 2 नवंबर 2000 को अपने घर के पास मालोम बस स्‍टैंड पर सेना द्वारा 10 लोगों को कथित तौर पर मारे जाने के बाद अनशन शुरू किया था। पिछले 16 साल से वह इंफाल अस्‍पताल में कस्‍टडी में हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App