ताज़ा खबर
 

INX media case: जेल नंबर 7 में कैद हैं पी चिदंबरम, यासीन मलिक और क्रिश्चन मिशल हैं पड़ोसी

जेल में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के पड़ोसी यासीन मलिक, क्रिश्चियन मिशेल और दीपक तलवार हैं। इस सेल में आर्थिक अपराधियों को रखा जाता है।

Author नई दिल्ली | Published on: September 6, 2019 2:43 PM
पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कांग्रेसी के दिग्गज नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम इस वक्त तिहाड़ जेल में हैं। चिदंबरम को INX मीडिया केस में सीबीआई की विशेष अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया है। चिदंबरम तिहाड़ जेल में 19 सितंबर तक रहेंगे। पूर्व वित्त मंत्री को जेल संख्या-7 में रखा गया है। इस सेल में आर्थिक अपराधियों को रखा जाता है। इस सेल में चिदंबरम से पहले उनके बेटे कार्ति से लेकर कई बड़ी शख्सियत रेह चुकीं हैं।

साल 2018 में उनके बेटे कार्ति चिदंबरम (इसी केस में मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों को लेकर) ने कैद काटी थी। कार्ति के अलावा हाल ही में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी भी इसी सेल में कैद थे। जेल में जम्मू और कश्मीर के एक अलगाववादी नेता यासीन मलिक, वेस्टलैंड वीवीआईपी चॉपर स्कैम आरोपी क्रिश्चियन मिशेल और कॉरपोरेट लॉबिस्ट दीपक तलवार चिदंबरम के पड़ोसी हैं। चिदंबरम वार्ड नंबर 2 के सेल नंबर 15 की 7 नंबर जेल में हैं।

कभी पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री के रूप में Z + सुरक्षा में रहने वाले चिदंबरम को तिहाड़ जेल में कोई विशेष सुविधा नहीं मिलेगी। उन्हें अपनी जेल की कोठरी के बाहर टहलने की अनुमति दी गई है। कांग्रेस नेता ने पश्चिमी शौचालय सुविधाओं की मांग की थी और उन्हें ये सुविधा जेल मैनुअल के आधार पर प्रदान की गई है। इसके अलावा पूर्व वित्त मंत्री को जेल नियमों के मुताबिक अखबार, टीवी की सुविधा भी मिल रही है।

बता दें कि आईएनएक्स मीडिया के धन शोधन मामले में पूर्व केन्द्रीय गृह मंत्री चिदंबरम को बीती 21 अगस्त को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से चिदंबरम सीबीआई की हिरासत थे। लेकिन गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी। इसी के साथ चिदंबरम सीबीआई हिरासत भी खत्म हो गई। जिसके बाद उन्हें कोर्ट ने दो हफ्तों के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया। चिदंबरम पर आरोप हैं कि उन्होंने साल 2007 में आईएनएक्स मीडिया में विदेशी फंड को बड़ी मात्रा में निवेश की मंजूरी दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एक और IAS अधिकारी ने दिया इस्तीफा, लोकतांत्रिक मूल्यों में गिरावट का दिया हवाला
2 Chandrayaan-2 Moon Landing: जानिए इस मिशन के बारे में सबकुछ, शुरुआत से लेकर अबतक क्या-क्या हुआ
3 Kerala Nirmal Lottery NR-137 Results: 60 लाख रुपए तक इनाम घोषित, यहां चेक करें आपका लगा या नहीं?