‘2 से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों से छीन लिया जाए वोट डालने का अधिकार’ प्रवीण तोगड़िया बोले- देश को पॉपुलेशन बम से बचाना जरूरी

अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि देश को ‘पॉपुलेशन बम’ से बचना होगा। वहीं, भारत सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून बनाकर सराहनीय काम किया।

आइएचपी के संस्थापक प्रवीण तोगड़ीया

देश में बढ़ती जनसंख्या को लेकर अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार (7 जनवरी) को सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि देश को ‘पॉपुलेशन बम’ से बचना होगा। ऐसे में 2 से अधिक बच्चे पैदा करने वालों को मतदान करने का अधिकार नहीं देना चाहिए। इस दौरान तोगड़िया ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर मोदी सरकार की तारीफ भी की।

नोएडा आए थे प्रवीण तोगड़िया: जानकारी के मुताबिक, प्रवीण तोगड़िया मंगलवार को नोएडा के सेक्टर-22 स्थित चौड़ा गांव में थे। उस दौरान वह हिंदू संगठन एवं राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे।

Hindi News Today, 8 January 2020 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

2 बच्चों को लेकर कही यह बात: बातचीत के दौरान प्रवीण तोगड़िया ने जनसंख्या को लेकर बड़ा बयान दिया। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘‘हमारी मांग है कि यदि कोई भी व्यक्ति 2 बच्चों के अलावा संतान पैदा करता है तो भारत में जो भी सरकारी सुविधाएं दी जा रही हैं, वे उस परिवार को नहीं दी जाएं। 2 से अधिक बच्चे पैदा करने वाले लोगों को चुनाव लड़ने और चुनाव में वोट डालने के अधिकार से भी वंचित रखा जाए। देश को पॉपुलेशन बम से बचना होगा।’’

नागरिकता संशोधन कानून पर कही यह बात: प्रवीण तोगड़िया ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर मोदी सरकार की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र सरकार का यह फैसला काबिल-ए-तारीफ है। इस कानून से प्रताड़ित लोगों को काफी मदद मिलेगी। पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में प्रताड़ित हिंदुओं व अन्य धर्मों के लोगों को बेहतर जीवन दिया जा सकेगा।’’

विरोध पर जताई नाराजगी: प्रवीण तोगड़िया ने सीएए व एनआरसी को लेकर हो रहे विरोध पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि जो भारतीय हैं, उन्हें न तो सीएए से डरने की जरूरत है और न ही एनआरसी से। एनआरसी से घुसपैठियों की पहचान होगी। इससे किसी भी भारतीय को डरने की जरूरत नहीं है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।