Inside Story: अब यूरोपीय राजनेताओं के तौर-तरीके अपनाएंगे मोदी-नवाज - Jansatta
ताज़ा खबर
 

Inside Story: अब यूरोपीय राजनेताओं के तौर-तरीके अपनाएंगे मोदी-नवाज

इसी बीच पाकिस्‍तानी अखबार 'द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून' ने खबर दी है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पीएम मोदी और नवाज शरीफ को न्‍योता भेजा है।

Author नई दिल्‍ली/इस्‍लामाबाद | December 29, 2015 5:18 PM
25 दिसंबर 2015 को लाहौर यात्रा के दौरान नवाज शरीफ से हाथ मिलाते नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जब पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की थी, तब उन्‍होंने जो पहली बात कही थी, वो है- ‘यूरोप के नेताओं के तरह हम क्‍यों नहीं मिलते हैं? वे अनौपचारिक तौर पर भी मिलते हैं और बातचीत करते हैं।’ इसी बीच पाकिस्‍तानी अखबार ‘द एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून’ ने खबर दी है कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने पीएम मोदी और नवाज शरीफ को न्‍योता भेजा है। उन्‍होंने मोदी और नवाज को अगले साल मार्च में होने वाली न्‍यूक्लियर सिक्‍योरिटी समिट के लिए बुलाया है। बहरहाल, वापस नवाज और मोदी की बातचीत पर लौटते हैं। जब मोदी ने नवाज के सामने यूरोपीय नेताओं का उदाहरण रखा तो वह भी सहमत दिखे। सूत्रों के मुताबिक, दोनों नेता इस बात पर अडिग दिखे कि वे भविष्‍य में भी संपर्क बनाए रखेंगे।

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के अनुसार अनौपाचारिक बातचीत के मोदी के प्रस्‍ताव पर शरीफ भी राजी हैं। इसके अलावा दोनों नेता नेशनल सिक्युरिटी एडवाइजर्स के बीच बातचीत जारी रखने पर राजी हुए हैं। मोदी-नवाज ने तय किया है कि रास्ते में जितनी भी रुकावट आ जाएं, लेकिन भारत-पाक के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एक-दूसरे के संपर्क में बने रहेंगे।

आपको बता दें कि पीएम मोदी के साथ पाकिस्‍तान दौरे पर राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल भी गए थे। खबर है कि बैंकॉक में जब डोवाल और नसीर खान जंजुआ की मुलाकात हुई थी, तब दोनों ने पर्सनल नंबर और ईमेल आईडी शेयर किए थे। ये दोनों इसी महीने की शुरुआत में मिले थे। मोदी-नवाज ने कहा है कि लाइन ऑफ कंट्रोल या और कहीं कुछ भी गड़बड़ी हो, लेकिन उनके बीच बातचीत जारी रहनी चाहिए। इसके अलावा दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने अपने-अपने विदेश सचिवों को ताकीद की है कि वे तीन से छह महीने का प्‍लान बनाकर उन मुद्दों पर आगे बढ़ें, जिन पर दोनों देश सहयोग कर सकते हैं। भारत-पाक विदेश सचिवों की मुलाकात अगले साज 15-16 जनवरी को इस्‍लामाबाद में होनी है। तीन महीने के प्‍लान के पीछे एक कारण यह भी है कि मोदी और नवाज मार्च में वॉशिंगटन में मिल सकते हैं। पाकिस्‍तान सरकार के सूत्रों के मुताबिक, मोदी-नवाज के बीच करीब 50 मिनट बातचीत हुई थी, लेकिन इस दौरान कश्‍मीर का कोई जिक्र नहीं हुआ।

Read Also:

PHOTOS: मिलिए, नवाज शरीफ की नवासी मेहरूनिसा से, जिनकी शादी में गए थे PM मोदी

PM मोदी ने छुए नवाज शरीफ की मां के पैर, पत्‍नी को दी शॉल और कश्‍मीरी चाय भी पी

मोदी-नवाज मुलाकात से बौखलाया सईद, बोला- मोदी का ऐसा स्‍वागत देख रो रहे कश्‍मीरी

Inside Story: सुबह की फ़ोन कॉल में कैसे फिक्स हुई मोदी-नवाज मीटिंग?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App