कर्नाटक के पूर्व CM येदियुरप्पा के करीबियों के ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमारी, क्या सिचाईं विभाग में हुआ था घोटाला?

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा के करीबी उमेश के कई ठिकानों समेत 50 जगहों पर गुरुवार को इनकम टैक्स के अधिकारियों ने छापेमारी की।

BS Yediyurappa
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो) सोर्स- PTI

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा के करीबी उमेश के कई ठिकानों समेत 50 जगहों पर गुरुवार को इनकम टैक्स के अधिकारियों ने छापेमारी की। सूत्रों ने कहा कि आयकर अधिकारियों ने कर्नाटक में 50 से अधिक स्थानों पर छापेमारी की है। ऐसे में सवाल उठने लगे कि क्या येदियुरप्पा काल में कर्नाटक में सिंचाई विभाग में घोटाला हुआ। येदियुरप्पा ने पुष्टि की है कि उनके सहयोगी उमेश के कई ठिकानों पर छापेमारी की गई है।

येदियुरप्पा ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उमेश के आवास पर छापेमारी हुई है। वह मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के साथ नहीं बल्कि मेरे साथ काम कर रहे थे। जल्द सच्चाई सामने आएगी और मैं प्रतिक्रिया दूंगा।” उन्होंने कहा कि आयकर अधिकारी गलत काम करने वाले व्यक्ति को कभी नहीं बख्शते। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ”उन्होंने कभी किसी को नहीं बख्शा। उन्होंने कानून के अनुसार कार्रवाई की है।”

छापेमारी का कारण पूछे जाने पर येदियुरप्पा ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है और वह केवल वही जानते हैं जो मीडिया में रिपोर्ट किया गया है। येदियुरप्पा के मुताबिक, आईटी अधिकारियों ने उमेश को शुक्रवार सुबह 11 बजे तलब किया है, जिसके बाद वह छापेमारी के पीछे की वजह जान पाएंगे।

आयकर विभाग की इस कार्रवाई को उपचुनाव से पहले राजनीति से जोड़े जाने पर येदियुरप्पा ने कहा, ”मैं छापे को राजनीति से जोड़ना नहीं चाहता। आईटी छापे राजनीति से अलग हैं। आयकर छापेमारी सामान्य रूप से होती रहती है। अनावश्यक रूप से कारण खोजने की आवश्यकता नहीं है।” आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार, छापेमारी का मेन टारगेट सिंचाई विभाग के ठेकेदार थे। आयकर अधिकारियों ने कुछ चार्टर्ड एकाउंटेंट के घरों और दफ्तरों पर भी छापेमारी की। सूत्रों ने कहा कि बेंगलुरू, बगलकोट, बेलगावी, विजयपुरा और दावणगेरे में 50 से अधिक जगहों पर छापे मारे गए हैं।

कौन है उमेश: बीजेपी के सूत्रों के मुताबिक, जब बीएस येदियुरप्पा कर्नाटक के मुख्यमंत्री थे, तब उमेश, उनके मुख्यमंत्री कार्यालय में निजी सहायक के रूप में काम किया था। बताया जाता है कि वह सीएम येदियुरप्पा के बेटे बीवाई विजयेंद्र के भी करीबी थे। (इनपुट समाचार एजेंसी भाषा से भी)

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट