ताज़ा खबर
 

शिलान्‍यास के लिए जा रहे थे सीएम नीतीश कुमार, दिखाए गए काले झंडे, फेंकी काली स्‍याही

श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के पास दोपहर में ‘गरीब जनक्रांति पार्टी’ के करीब 10-12 लोग अचानक पहुंच गये और उन्होंने मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाया एवं उनके काफिले पर स्याही फेंकी।

Author मुजफ्फरपुर | Updated: September 24, 2019 9:31 PM
सीएम नीतीश कुमार। (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को दिखाया गया काला झंडा, उनके काफिले पर फेंकी गयी स्याही मुजफ्फरपुर, 24 सितंबर (भाषा) बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक अज्ञात राजनीतिक संगठन के चंद लोगों ने काला झंडा दिखाया और उनके काफिले पर स्याही फेंकी।

श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (एसकेएमसीएच) के पास दोपहर में ‘गरीब जनक्रांति पार्टी’ के करीब 10-12 लोग अचानक पहुंच गये और उन्होंने मुख्यमंत्री को काला झंडा दिखाया एवं उनके काफिले पर स्याही फेंकी। उन्होंने सरकार विरोधी नारे भी लगाये।

संगठन के अध्यक्ष विकास कृष्णा ने यहा संवाददाताओं से कहा, ‘‘ हमने नीतीश कुमार को काला झंडा दिखाया और उनके काफिले पर स्याही फेंकी। हम तबतक ऐसा करते रहेंगे जबतक एसकेएमसीएच में चीजें नहीं सुधर जाती, जहां दूरदराज से खासकर गरीब लोग इलाज के लिए आते हैं लेकिन अस्पताल में सुविधा नहीं है।’’ पुलिस सूत्रों ने कहा कि इस घटना के सिलसिले में दो लोग हिरासत में लिये गये हैं। दोनों का संबंध गरीब जनक्रांति पार्टी से है।

कुमार 105 करोड़ रूपये की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन करने और आधारशिला रखने के लिए एसकेएमसीएच में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गये थे।मुजफ्फरपुर का एसकेएमसीएच इस साल जून में तब सुर्खियों में आ गया था जब 100 से अधिक बच्चे एक्यूट इनसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के संदिग्ध मामलों के चलते मर गये थे।

मुख्यमंत्री ने 100 बिस्तर वाले बालचिकित्सा आईसीयू की आधारशिला रखी और अंदरूनी जलापूर्ति प्रणाली को मजबूत करने से संबंधी कार्य का शुभारंभ किया। उन्होंने 100 बिस्तर वाले मातृ एवं बाल इकाई के लिए एक भवन का उद्घाटन भी किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कोर्ट ने कहा- मां-बाप की देखभाल हर बच्चे का जिम्मा, ड्यूटी का बंटवारा नहीं हो सकता
2 SC ने सोशल मीडिया पर फैलते ‘जहर’ को लेकर मांगे सुझाव, जज बोले, ‘फीचर फोन पर लौटना चाहता हूं’
3 संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की भीड़ हिंसा की निंदा, बोले- अगर कोई स्वयंसेवक दोषी पाया गया तो उसे संगठन से अलग किया जाएगा
ये पढ़ा क्या?
X