ताज़ा खबर
 

देश के ढांचागत विकास पर जोर देना होगा: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि आधुनिक भारत के निर्माण में ढांचागत विकास को प्राथमिकता देने की जरूरत है। हरियाणा भौगोलिक दृष्टि से दिल्ली के..

Author सोनीपत | November 6, 2015 12:42 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीटीआई फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि आधुनिक भारत के निर्माण में ढांचागत विकास को प्राथमिकता देने की जरूरत है। हरियाणा भौगोलिक दृष्टि से दिल्ली के पास होने के कारण ढांचागत विकास की परियोजनाओं में सबसे अधिक लाभ उठा सकता है। प्रधानमंत्री सोनीपत के राजीव गांधी एजुकेशन सिटी कुंडली में 13 हजार 802 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से बनाए जाने वाले भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की तीन बड़ी परियोजनाओं की आधारशिला रखने के बाद उपस्थित जन समूह को संबोधित कर रहे थे।

समारोह में पंजाब व हरियाणा के राज्यपाल और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक प्रो कप्तान सिंह सोलंकी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के अलावा केंद्र व हरियाणा मंत्रिमंडल के सदस्य, सांसद, विधायक भी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री ने रिमोट कंट्रोल से बटन दबा कर तीन परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इस अवसर पर परियोजनाओं से संबंधित एक वृत्तचित्र भी प्रस्तुत किया गया।

प्रधानमंत्री ने हरियाणा में मुख्यमंत्री के नेतृत्व में किए जा रहे कार्यों सराहना करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार सही दिशा में काम कर रही है। मोदी ने कहा कि वर्तमान सरकार का केवल एक साल का कार्यकाल पूरा हुआ है और इस दौरान हमें 52 नई परियोजनाएं लागू कर लोगों को भ्रष्टाचार मुक्त सुशासन देने की पहल की है। उन्होंने कहा कि एक साल के कार्यकाल में केंद्र सरकार की योजनाओं का हरियाणा को लाभ हुआ है और इसके लिए उन्होंने सरकार का आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय राजमार्ग की नौ परियोजनाएं हरियाणा को दी हैं और चार राष्ट्रीय राजमार्गों का चार मार्गीय बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रेल बजट में भी हरियाणा को तीन परियोजनाएं मिली हैं।

मुख्यमंत्री ने हरियाणा में हिसार हवाईअड्डे को विकसित करने की मांग भी प्रधानमंत्री के सामने रखी। खट्टर ने हरियाणा व गुजरात के रिश्ते के बारे जिक्र करते हुए कहा कि भगवान श्रीकृष्ण की कर्मस्थली गुजरात व हरियाणा के कुरुक्षेत्र मेंं रही है और सरस्वती नदी के उद्गम स्थल आदीबद्री के बाद इसका प्रवाह गुजरात के कच्छ तक माना गया है और इस नाते भी दोनों राज्यों के संबंध बढ़े हैं।

केंद्रीय सड़क परिवहन व जहाजरानी मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सड़क ढांचागत विकास की बड़ी परियोजना तैयार की गई है। देश में पांच लाख किलोमीटर लंबाई का रोड नेटवर्क है, जिसमें डेढ़ लाख किलोमीटर राजमार्गों का है। दिसंबर 2015 तक 96 हजार किलोमीटर तक की परियोजनाओं पर काम चल रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App