ताज़ा खबर
 

इंदिरा गांधी के शासन को ब्रिटिश राज से बदतर बताने वाला आर्टिकल बिहार सरकार ने वेबसाइट से हटाया

सरकारी वेबसाइट में इंदिरा के बारे में ऐसी बातें लिखे जाने से कांग्रेस भड़क गई है। आपको बता दें कि बिहार में इस समय महागठबंधन की सरकार है, जिसमें कांग्रेस भी शामिल है।

बिहार कांग्रेस के नेता चंदन यादव ने कहा था कि इंदिरा गांधी के बारे में जो लिखा गया है, वह आपत्तिजनक है।

बिहार सरकार की वेबसाइट ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के शासन को ब्रिटिश राज से भी बदतर बताया है। इसमें बिहार की हिस्ट्री का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि इमरजेंसी का विरोध करने पर लोकनायक जय प्रकाश नारायण के साथ इंदिरा गांधी का व्यवहार ब्रिटिश राज में किए गए बर्ताव से भी खराब था। दूसरी ओर जैसे ही यह मामला चर्चा में आया, कांग्रेस के नेता नाराज हो गए। (बिहार की वेबसाइट पर लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें और हिस्‍ट्री ऑफ बिहार सेक्‍शन में जाएं) कांग्रेस की आपत्ति के बाद विवादित बातों को वेबसाइट से हटा लिया गया है।

Read Also: ‘कांग्रेस दर्शन’ में सरदार पटेल की तारीफ, सोनिया गांधी पर कटाक्ष और नेहरू पर निशाना

जानकारी के मुताबिक, बिहार के इतिहास की समीक्षा में इंदिरा गांधी के शासन को ‘दबाने वाला’ करार कदया गया था, जबकि इमरजेंसी के समय किए गए ‘अत्याचार’ का हवाला दिया गया था। इसमें भारत के आधुनिक इतिहास में जेपी के योगदान का जिक्र करते हुए लिखा गया था- ‘वह जेपी ही थे, जिन्होंने मजबूती से इंदिरा के एकतरफा शासन और उनके छोटे बेटे संजय गांधी का विरोध किया था। जेपी के विरोध पर लोगों के रिएक्शन से डरकर ही इंदिरा गांधी ने 26 जून 1975 को इमरजेंसी का एलान करते हुए उन्हें अरेस्ट करवा दिया था। उन्हें दिल्ली के तिहाड़ जेल में रखा गया था, जहां अपराधियों को रखा जाता है।’

ये है उस आर्टिकल का स्‍क्रीन शॉट 

indira gandhi rule, Worse Than British, Bihar Government, Bihar Website, बिहार सरकार, इंदिरा गांधी, ब्रिटिश राज, सरकारी वेबसाइट, सोनिया गांधी, latest bihar news, news in hindi, hindi news कांग्रेस पार्टी के विरोध के बाद इस आर्टिकल को बिहार सरकार ने अपनी वेबसाइट से हटा लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App