ताज़ा खबर
 

इंदिरा गांधी के धर्मनिरपेक्ष आदर्श आज अधिक प्रासंगिक: तृणमूल कांग्रेस

पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी द्वारा जवाहर लाल नेहरू के धर्मनिरपेक्ष आदर्शों की सराहना किए जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने आज इंदिरा गांधी की राष्ट्रीय विचारधारा को सराहा और कहा कि उनके धर्मनिरपेक्ष आदर्श आज ज्यादा प्रासंगिक हैं। राज्य के पंचायत मंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुब्रत मुखर्जी ने कहा, ‘‘इंदिरा […]

Author November 19, 2014 6:57 PM
तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने इंदिरा गांघी की 97वीं जयंती पर उनके विचारों को देश के लिए ज़रूरी बताया

पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी द्वारा जवाहर लाल नेहरू के धर्मनिरपेक्ष आदर्शों की सराहना किए जाने के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने आज इंदिरा गांधी की राष्ट्रीय विचारधारा को सराहा और कहा कि उनके धर्मनिरपेक्ष आदर्श आज ज्यादा प्रासंगिक हैं।

राज्य के पंचायत मंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुब्रत मुखर्जी ने कहा, ‘‘इंदिरा गांधी के धर्मनिरपेक्ष आदर्श आज के भारत में अधिक प्रासंगिक हैं जब सांप्रदायिकता देश में अपने पंख फैला रही है। इंदिरा गांधी अल्पसंख्यक समुदाय को अपने बच्चों की तरह मानती थीं।’’

कोलकाता नगर निगम द्वारा इंदिरा गांधी की 97वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘‘वह (इंदिरा) कहती थीं कि यदि मेरा एक पुत्र कमजोर है तो मुझे उसकी अधिक देखरेख करनी होगी। यदि उस कमजोर पुत्र की देखभाल करने पर कोई मुझसे नाराज है, तो मुझे उसकी कोई चिंता नहीं है। अल्पसंख्यकों के लिए उनकी यह सोच थी।’’

मुखर्जी की टिप्पणी कांग्रेस द्वारा आयोजित जवाहर लाल नेहरू के 125वें जयंती समारोह में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के शामिल होने के बाद आई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App