ताज़ा खबर
 

मारपीट का वीडियो बनाने वाले कर्मचारी को इंडिगो एयरलाइंस ने नौकरी से निकाला, टि्वटर पर फूटा गुस्सा

मंगलवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें दिखाया गया है कि दिल्ली हवाई अड्डे पर इंडिगो के कर्मचारी एक यात्री से मारपीट कर रहे हैं। यह घटना 15 अक्तूबर की है।

नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने इस घटना की निंदा करते हुए विमानन कंपनी से रिपोर्ट मांगी है।

इंडिगो एयरलाइंस के कर्मचारियों द्वारा एक यात्री से दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर मारपीट करने का वीडियो सामने आया। वीडियो सामने आने के बाद नागर विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू ने इंडिगो के कर्मचारियों द्वारा एक यात्री के साथ मारपीट की घटना की कड़ी निंदा की और नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) से इस बारे में स्वतंत्र रिपोर्ट तलब की है। राजू ने कहा कि सभ्य समाज में इस तरह की बातों को स्वीकार नहीं किया जा सकता। मंगलवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें दिखाया गया है कि दिल्ली हवाई अड्डे पर इंडिगो के कर्मचारी एक यात्री से मारपीट कर रहे हैं। यह घटना 15 अक्तूबर की है।

वीडियो वायरल होने के बाद इंडिगो ने एक बयान जारी करके माफी मांगी थी। साथ ही बताया गया था दोषी कर्मचारियों को हटा दिया गया है। लेकिन उसमें यह जिक्र नहीं किया गया था, यह कार्रवाई किसके खिलाफ हुई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इंडिगो के जिस कर्मचारी मोंटू कालरा ने इस घटना को अपने कैमरे में कैद किया था, उसे ही नौकरी से हटा दिया गया।

अंग्रेजी न्यूज चैनल टाइम्स नाऊ को दिए इंटरव्यू में कालरा ने बताया, ‘मैं इंडिगो के कार्गो विभाग में पिछले छह साल से काम कर रहा था। एक फ्लाइट से कार्गो ऑफलोडिंग करने के बाद मैं दूसरी फ्लाइट की ओर जा रहा था, तभी देखा कि मेरे साथियों और एक यात्री के बीच बहस हो रही है। मुझे नहीं पता कि बहस किसने शुरू की थी, मैंने वीडियो बनाना शुरू कर दिया। जब मैं टर्मिनल से जा रहा था, जो उस झगड़े में शामिल मेरे एक साथी ने मुझसे कहा कि यह वीडियो मुझे भेज दो मैं सिक्यूरिटी असिस्टेंट मैनेजर को सबूत के तौर पर इसे दिखाऊंगा।’

कालरा के मुताबिक इसके बाद उसे इंडिगो के सीनियर अधिकारियों ने बुलाया और पूरी घटना की जानकारी मांगी। इसके साथ ही उसके फोन से वह वीडियो भी डिलीट कर दिया गया। साथ ही कालरा ने बताया, ’16 से 30 अक्टूबर तक मुझे रोजाना ग्लोबल बिजनेस पार्क गुरुग्राम बुलाया जाता और वहां 11 से 6 बजे तक रोककर रखा जाता था। मुझे परेशान किया गया। 30 अक्टूबर को मुझे कहा गया कि तुम्हें नौकरी से निकाल दिया गया है। मैंने उनसे फैसले के बारे में दोबारा से सोचने की अपील की, लेकिन उन्होंने पहले ही फैसला कर लिया था। इसके बाद तीन नवंबर को मैंने एयरलाइंस के प्रेसिडेंट और वाइस प्रेसिडेंट को इस बारे में मेल किया, लेकिन उन्होंने मुझे बताया कि झगड़े और वीडियो लीक करने के लिए आप जिम्मेदार हो।’

कालरा को नौकरी से निकाले जाने की खबर आने के बाद लोगों ने टि्वटर के जरिए इंडिगो एयरलाइंस पर गुस्सा निकालना शुरू कर दिया। लोगों ने इंडिगो को बॉयकट करने की अपील की। कई लोगों ने कहा है कि वे कभी भी इंडिगो एयरलाइंस से सफर नहीं करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App