ताज़ा खबर
 

VIDEO: चीन में कोरोनावायरस के खतरे से बच निकलने की खुशी, भारतीय छात्रों से ऐसे मनाया जश्न

चीन से लौटे भारतीयों को फिलहाल दिल्ली और मानेसर में आईटीबीपी और सेना के कैंपों में रखा गया है। रविवार को मानेसर कैंप का एक वीडियो सामने आया है।

चीन से लौटे छात्रों ने डांस कर अपनी खुशी का इजहार किया। (वीडियो ग्रैब इमेज)

चीन में कोरोना वायरस फैलने के बाद कई भारतीयों को वहां से निकाला गया है। हाल ही में चीन में वायरस प्रभावित वुहान शहर से 323 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया का विमान दिल्ली पहुंचा था। चीन से लौटे भारतीयों को फिलहाल दिल्ली और मानेसर में आईटीबीपी और सेना के कैंपों में रखा गया है। रविवार को मानेसर कैंप का एक वीडियो सामने आया है।

इस वीडियो में चीन से लौटे छात्र वायरस से सुरक्षित बचकर निकलने की खुशी में डांस करते दिखाई दे रहे हैं। वहीं कुछ छात्र उनकी वीडियो शूट कर रहे हैं। भारतीय सेना ने यह वीडियो जारी किया है।

बता दें कि चीन के वुहान शहर से स्वदेश लौटे लोगों को फिलहाल दिल्ली के छावला में स्थित आईटीबीपी के कैंप और गुरूग्राम के मानेसर में स्थित इंडियन आर्मी के कैंपों में ठहराया गया है। यहां इन लोगों को 14 दिनों तक रखा जाएगा। दरअसल कोरोना वायरस का इंक्यूबेशन पीरियड 14 दिन है, इसलिए चीन से लौटे लोगों को एहतियातन सरकार ने कैंपों में ठहराया है।

चीन से लौटे भारतीयों में 211 छात्र, 110 नौकरीपेशा और 3 नाबालिग हैं। इनके साथ ही मालदीव के 7 लोग भी भारतीय यात्रियों के साथ एयर इंडिया के विमान से भारत लौटे थे।

चीन में कोरोना वायरस से करीब 10 हजार लोग संक्रमित बताए जा रहे हैं। अभी तक इस वायरस से 304 लोगों की मौत हो चुकी है। वायरस को फैलने से रोकने के लिए चीन ने कई शहरों को बंद कर दिया है और सार्वजनिक गतिविधियों जैसे शादी समारोह आदि पर भी रोक लगा दी है।

वायरस के चलते चीन की अर्थव्यवस्था पर भी बुरा असर पड़ रहा है। यही वजह है कि कोरोनावायरस के फैले संक्रमण से अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले अनुमानित असर को दूर करने के लिये चीन के केंद्रीय बैंक ने 1,200 अरब युआन यानी 173 अरब डॉलर झोंकने की योजना बनायी है।

पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने रविवार को एक बयान में कहा कि महामारी से जूझने के क्रम में मुद्रा बाजार को स्थिर बनाये रखने तथा बैंकिंग प्रणाली में पर्याप्त तरलता बनाये रखने के लिये यह कदम उठाया है।

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X