Indian Railways to refurbished the premium train Rajdhani as night lamp to keep thieves at bay and there are many more facilities - चोरों से निपटने के लिए राजधानी एक्सप्रेस में लगाए जाएंगे खास बल्ब, बढ़ने वाली हैं कई और सहूलियतें - Jansatta
ताज़ा खबर
 

चोरों से निपटने के लिए राजधानी एक्सप्रेस में लगाए जाएंगे खास बल्ब, बढ़ने वाली हैं कई और सहूलियतें

प्रीमियम ट्रेन राजधानी में चोर किसी भी तरह से सेंध न मार सकें, इसके लिए भारतीय रेल ने कमर कस ली है। रेलवे मे राजधानी ट्रेनों की सुरक्षा के लिए गुरुवार (8 फरवरी) को मुंबई में 'स्वर्ण परियोजना की लॉन्च की।

राजधानी एक्सप्रेस। (फाइल फोटो)

प्रीमियम ट्रेन राजधानी में किसी भी तरह से चोरी न हो पाए, इसके लिए भारतीय रेल ने कमर कस ली है। रेलवे ने राजधानी ट्रेनों की सुरक्षा के लिए गुरुवार (8 फरवरी) को मुंबई में ‘स्वर्ण परियोजना’ लॉन्च की। पिछले दिनों राजधानी ट्रेन में एक के बाद एक कई चोरी की घटनाएं सामने आई थीं। इस हाईक्लास ट्रेन में यात्री खुद को महफूज महसूस नहीं कर रहे थे। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक पिछले वर्ष राजधानी ट्रेन में मुंबई के बांद्रा निवासी शख्स को लूट लिया गया था। उससे नकदी और जेवर लूटे गए थे। लेकिन अब यात्रियों अपने सामान की सुरक्षा के लिए रातभर जागकर नहीं गुजारनी पड़ेगी। राजधानी ट्रेनों में कोच के गलियारों में एक खास लैंप लगाई जाएगी, जो कि रात भर जलेगी। कोच में आने-जाने वाले हर शख्स पर जल्द ही कैमरों की नजर होगी।

पश्चिमी रेलवे मंडल के प्रबंधक मुकुल जैन ने मुंबई में स्वर्ण परियोजना लॉन्च करते वक्त कहा कि राजधानी में नाइट लैंप की यह सुविधा पिछली कुछ चोरी की घटनाओं को देखते हुए की जा रही है, जब चोर कोच की बिजली बंद करके यत्रियों का सामान और कीमती चीजें ले उड़े।

मुकुल जैन ने कहा कि राजधानी के दोनों सेकेंड और थर्ड एसी कोच में नाइट लैंप लगाई जाएंगी, जिससे अगर कोई सामान लेकर भागने की कोशिश करता है तो नजर आ जाएगा। उन्होंने कहा कि पश्चिमी रेलवे राजधानी एक्सप्रेस के एक कोच में चार सीसीटीवी कैमरे लगाने की प्रक्रिया में है, ताकि यात्रियों की सुरक्षा पुख्ता की जा सके। अधिकारियों ने बताया कि पांच कोचों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने का काम चल रहा है, जो कि जल्द निपटा लिया जाएगा।

जैन ने बताया कि हर राजधानी ट्रेन में 50 लाख रुपये लगाकर उनका नवीनीकरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह खासकर कम किराए वाली उड़ानों के साथ प्रतिस्पर्धा को देखते हुए किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि राजधानी के पैंट्री कार में गैस सिलिंडर की जगह बिजली से चलने वाले स्टोव होंगे। टॉयलेट की दीवारों पर एक खास किस्म की परत चढ़ाई जाएगी, जिससे कोई भी उन पर कुछ लिखकर उन्हें गंदा नहीं पाएगा। कोच नंबर और बर्थ का अधेरे में पता लगाने के लिए खास इंतजाम किए जा रहे हैं। महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली के स्मारकों की तस्वीरें और सुंदर पेंटिंग कोच में लगाई जाएंगी। तस्वीरों के फ्रेम एलईडी वाले होंगे और ट्रेन में बिजली की बचत के लिए भी एलईडी लाइटों की व्यवस्था की जाएगी। पैर से दबाकर खुलने वाला कूड़ादान रखा जाएगा। फर्स्ट एसी में यात्रियों को दिया जाने वाला ब्रांडेड तकिया और तौलिया अन्य श्रेणियों के यात्रियों को भी जल्द दिया जाने लगेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App