ताज़ा खबर
 

INDIAN RAILWAYS: कंबल-बेडरोल की चोरी पर कसेगी लगाम, अब उठाया जाएगा यह कदम

कोच अटेंडेंट को यात्रा खत्म होने के 30 मिनट पहले ही सामान एकत्र करने का सुझाव दिया जा चुका है। अगर इस दौरान लिनन से जुड़ी कोई चीज चोरी या गायब होती है तो उसके भुगतान की राशि अटेंडेंट से वसूली जाएगी।

Author January 9, 2019 4:06 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है. (फोटो सोर्स:एक्सप्रेस आर्काइव)

कंबल और बेडरोल चोरी की बढ़ती घटनाओं से परेशान भारतीय रेलवे खास कदम उठाने जा रही है। भारतीय रेल विभाग ने अपने कर्मचारियों को यात्रियों के उतरने से 30 मिनट पहले ही बेडरोल एकत्र करने का निर्देश दिया है। हाल ही में संसद की कार्यवाही के दौरान राज्यसभा में रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन ने बताया कि बीते कुछ सालों में रेलगाड़ियों के एसी डब्बों से कंबल, चादरें और तौलिया आदि चोरी होने की बात संज्ञान में आई है। बेडरोल चोरी होने के संदर्भ में शिकायत दर्ज कराई जा चुकी है।

गोहेन ने बताया कि कोच अटेंडेंट को यात्रा खत्म होने के 30 मिनट पहले ही सामान एकत्र करने का सुझाव दिया जा चुका है। अगर इस दौरान लिनेन से जुड़ी कोई चीज चोरी या गायब होती है तो उसके भुगतान की राशि अटेंडेंट से वसूली जाएगी। रेल मंत्रालय के मुताबिक पिछले कुछ महीनों में बेडरोल चोरी करते हुए 7 यात्री और 3 रेल कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है।

पश्चिमी रेलवे जोन द्वारा मुहैया कराए गए आंकड़ों के मुताबिक 2017-18 में 1.95 लाख तौलिया, 81,776 चादरें, 5,038 तकिये का कवर और 7,043 कंबल चोरी हुए हैं। 2018 में अप्रैल से सितंबर के बीच 62 लाख रुपये के 79,350 तौलिया, 27,545 बेडशीट, 21,050 तकिये का कवर और 2,065 कंबल चोरी हुए हैं। चोरी के अनुपात में गिरफ्तार होने वाले दोषी लोगों की संख्या काफी कम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App