Indian Railways ने 660 ट्रेनों को दी हरी झंडी, जानें- किन रूट्स पर दौड़ेंगी ये गाड़ियां?

कोविड-19 के नए मामलों के मद्देनजर भारतीय रेलवे ने जून में 660 और रेलगाड़ियों के परिचालन को मंजूरी दी है।

Yaas, Eastern Railways, India News
प्लैटफॉर्म्स के आगे पार्क खड़ीं रेलगाड़ियां। (फाइल फोटोः पीटीआई)

कोविड-19 के नए मामलों के मद्देनजर भारतीय रेलवे ने जून में 660 और रेलगाड़ियों के परिचालन को मंजूरी दी है ताकि प्रवासी कामगारों की आवाजाही में सुविधा हो और विभिन्न स्टेशनों से चलने वाली ट्रेनों में प्रतीक्षा सूची कम हो। रेलवे ने यह जानकारी एक बयान में दी।

कोरोना वायरस महामारी से पहले रेलवे औसतन 1,768 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन रोजाना करता था। रेलवे ने बताया कि शुक्रवार तक रोजाना करीब 983 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन हो रहा है जो कोविड-19 महामारी से पहले चल रही रेलगाड़ियों के मुकाबले 56 प्रतिशत है। मांग और वाणिज्यिक जरूरत के आधार पर रेलगाड़ियों की संख्या में तेजी से बढ़तोरी की जा रही है। बयान के मुताबिक एक जून को करीब 800 मेल एवं एक्सप्रेस रेलगाड़ियों का परिचालन हो रहा था। रेलवे ने बताया, ‘‘ एक जून से 18 जून के बीच जोनल रेलवे द्वारा 660 अतिरिक्त मेल/,एक्सप्रेस रेलगाड़ियों के परिचालन की मंजूरी दी गई। इनमें से 552 मेल और एक्सप्रेस रेलगाड़ियां हैं जबकि 108 हॉलीडे स्पेशल ट्रेन हैं।’’

रेलवे ने बताया कि जोनल रेलवे को स्थानीय परिस्थितियों, टिकट की उपलब्धता और क्षेत्र में कोविड-19 की स्थिति का आकलन करते हुए चरणबद्ध तरीके से रेलगाड़ियों का परिचालन बहाल करने को कहा गया है।

इस बीच, दक्षिण रेलवे ने भी कई विशेष ट्रेनों को अगले सप्ताह से बहाल करने की घोषणा की, जिन्हें पहले खराब संरक्षण के कारण रद्द कर दिया गया था।

दक्षिण रेलवे ने एक विज्ञप्ति में कहा कि चेन्नई एग्मोर-तंजावुर, डॉ एमजीआर चेन्नई सेंट्रल-तिरुवनंतपुरम, कोयंबटूर-नागरकोइल और पुनालुर-मदुरै जैसे दैनिक स्पेशल को 20 और 21 जून से बहाल किया जाएगा। दक्षिणी रेलवे ने कहा,”कृपया कोविड सुरक्षा मानदंडों का पालन करना जारी रखें जैसे कि मास्क पहनना, सामाजिक दूरी और हाथ की स्वच्छता। ”

उत्तर पूर्व रेलवे उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और केरल के एर्नाकुलम के बीच दो जोड़ी ग्रीष्मकालीन विशेष ट्रेनें भी चलाएगा। गोरखपुर एर्नाकुलम स्पेशल फेयर समर स्पेशल 19 जून और 26 जून (शनिवार) को गोरखपुर से सुबह 8.30 बजे रवाना होगी और तीसरे दिन दोपहर 2.30 बजे एर्नाकुलम पहुंचेगी। वापस आते समय विशेष ट्रेन 21 जून और 28 जून (सोमवार) को रात 11.55 बजे एर्नाकुलम से रवाना होगी और चौथे दिन सुबह 6.30 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। 22 जून से सिलचर-कोयंबटूर सेक्टर पर भी साप्ताहिक विशेष ट्रेनें चलेंगी।

अपडेट