ताज़ा खबर
 

दुबई में बैठा है ई-टिकटिंग रैकेट का सरगना! RPF के डीजी ने कहा- हमने एक संगठित गैंग का किया भंडाफोड़

आरपीएफ के डीजी ने बताया कि ई-टिकटिंग के संबंध में एक संगठित गैंग का भंडाफोड़ किया गया है, जिसका सरगना दुबई में बैठा हुआ है। फिलहाल गैंग के सदस्यों से पूछताछ की जा रही है।

Author Edited By नितिन गौतम नई दिल्ली | Updated: January 21, 2020 7:40 PM
rpf dgआरपीएफ डीजी ने ई-टिकटिंग के संगठित गैंग का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। (एएनआई इमेज)

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) ने ई-टिकटिंग गैंग का भंडाफोड़ करने का दावा किया है। आरपीएफ के अनुसार, इस गैंग का सरगना दुबई में बैठा हुआ है। आरपीएफ के डीजी ने “आज बताया कि हम ई-टिकटिंग रैकेट के खिलाफ ऑपरेशन चला रहे हैं। इस संबंध में एक संगठित गैंग का भंडाफोड़ किया गया है, जिसका सरगना दुबई में बैठा हुआ है। हम गैंग के सदस्यों से पूछताछ कर रहे हैं। इसके साथ ही इस रैकेट के द्वारा बैंकों और कंपनियों में भेजे गए पैसे की भी जांच की जा रही है।”

रेलवे में अवैध टिकट रैकेट को लेकर हाल में की गई सबसे बड़ी कार्रवाई में आरपीएफ ने झारखंड से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। ई-टिकट गिरोह में शामिल यह व्यक्ति मदरसे से पढ़ा हुआ है और खुद ही उसने सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट करना सीखा है। उसके आतंकी वित्त पोषण से भी जुड़े होने का संदेह है।

रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के महानिदेशक अरूण कुमार ने कहा कि गुलाम मुस्तफा को भुवनेश्वर से गिरफ्तार किया गया। उसके पास आईआरसीटीसी के 563 निजी आईडी हैं और उसके पास स्टेट बैंक आफ इंडिया की 2400 शाखाओं और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की 600 शाखाओं की सूची भी मिली, जहां उसके खाते होने के संदेह हैं।

RPF डीजी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पिछले दस दिनों से आईबी, स्पेशल ब्यूरो, ईडी, एनआईए और कर्नाटक पुलिस ने मुस्तफा से पूछताछ की है।” उन्होंने कहा, “इस मामले में धनशोधन और आतंकवादी वित्त पोषण का भी संदेह है।” कुमार ने गिरोह का सरगना हामिद अशरफ को बताया जिस पर प्रति महीने दस से 15 करोड़ रुपये बनाने का संदेह है। अशरफ सॉफ्टवेयर डेवलपर भी है जो 2019 में गोंडा के एक स्कूल में हुए बम कांड में संलिप्त था और संदेह है कि वह दुबई भाग गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Election: शाजिया इल्मी का आप प्रत्याशी सौरभ भारद्वाज पर तंज, EVM पर भरोसा नहीं तो क्यों लड़ रहे चुनाव
2 CAA के मुखर विरोधी भीम आर्मी चीफ को दिल्ली आने की इजाजत, कोर्ट ने बदली जमानत की शर्तें
3 स्कूली बसों को रास्ता देंगे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी, एलजी से मुलाकात के बाद लिया फैसला, पर प्रदर्शन जारी रहेगा
कृषि कानून विवाद
X