ताज़ा खबर
 

Chinese Apps Banned in India: नरेंद्र मोदी सरकार का बड़ा फैसला! चीन के TikTok, Shareit और WeChat समेत 59 ऐप्स किए बैन

Chinese Apps Banned in India: सरकार ने जिन 59 ऐप्स को बैन किया है, उनमें से अधिकतर चीन मूल के हैं। इनमें TikTok, Shareit, WeChat, Mi Video Call – Xiaomi आदि शामिल हैं।

Uttar Pradesh, UP, STF, Chinese Mobile AppsGalwan Valley Clash में भारत के 20 जवान शहीद होने के बाद लोग चीनी उत्पादों और तकनीक का बहिष्कार कर ड्रैगन को सबक सिखाने की बात पर बल दे रहे हैं। (प्रतीकात्मक फोटोः Freepik)

LAC विवाद को लेकर भारत और चीन में तनातनी के बीच सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली NDA सरकार ने बड़ा फैसला लिया। केंद्र ने देश में TikTok, Shareit और WeChat समेत 59 मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया है। सरकार ने इन सभी ऐप्स को भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए घातक हानिकारक करार दिया है। सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने इन ऐप्स पर रोक लगाई है, जिनमें से अधिकतर चीन के हैं। मंत्रालय ने इस बाबत Information Technology Act का सेक्शन 69A इस्तेमाल करते हुए ऐक्शन लिया है।

Ministry of Electronics & IT के सर्कुलर के मुताबिक, “कुछ वक्त से 130 करोड़ भारतीयों की डेटा सिक्योरिटी और निजता के बचाव को लेकर चिंता के सवाल खड़े हो रहे थे। मालूम चला कि ऐसी चिंताओं से देश की अखंडता, संप्रभुता और सुरक्षा को भी खतरा पहुंच सकता है। मंत्रालय को विभिन्न स्रोतों से काफी शिकायतें भी मिली थीं, जिनमें कई रिपोर्ट्स शामिल थीं। ऐसी खबरों में Android और iOS प्लैटफॉर्म्स पर मौजूद कुछ मोबाइल ऐप्स के जरिए डेटा चुराने और देश के बाहर के सर्वर्स पर बगैर यूजर की अनुमति के उन्हें ट्रांसमिट करने की बात सामने आई थी।”

Chinese Apps Banned in India Live Updates

सरकार ने जिन 59 ऐप्स को बैन किया है, उनमें से अधिकतर चीन मूल के हैं। इनमें TikTok, Shareit, WeChat, Mi Video Call – Xiaomi आदि शामिल हैं। देखें, पूरी लिस्टः

मंत्रालय के मुताबिक, गृह मंत्रालय के अधीन Indian Cyber Crime Coordinate Centre ने भी इन “Malicious Apps” (गड़बड़ ऐप्स) को बैन करने के लिए सिफारिश की थी। मंत्रालय को भी लगातार कई जगहों से ऐसे ऐप्स के संदर्भ में नागरिकों की डेटा सुरक्षा और निजता जोखिम को लेकर शिकायतें मिल रही थीं। विज्ञप्ति में आगे यह भी कहा गया कि CERT-IN को भी लोगों से डेटा सुरक्षा को लेकर इस बारे में शिकायतें मिली थीं। सांसद भी पूर्व में ये मुद्दा उठा चुके हैं।

जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार के इन ऐप्स पर रोक लगाने के ऐलान के कुछ मिनटों बाद ही TikTok पर MyGov का जो अकाउंट था, उसे भी डिसेबल कर दिया गया। ऐसा तब किया गया, जब उस अकाउंट पर लगभग 1.1 मिलियन फॉलोअर थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी सरकार ‘नए चैनल’ से करेगी 400 निदेशकों और डिप्टी डायरेक्टर्स की भर्ती, कार्मिक मंत्रालय बना रहा योजना
2 Corona Virus Outbreak: कोविड-19 के खिलाफ तैनात स्वास्थ्यकर्मियों के लिए सुरक्षात्मक चश्मा
3 लॉकडाउनः नौकरी गंवाने के बाद इंजीनियरिंग के प्रोफेसर बन गए बाइक मेकेनिक, परिवार समेत छोड़ना पड़ा शहर
IPL 2020 LIVE
X