ताज़ा खबर
 

J&K जाना चाहता था पाकिस्तान में जन्मा यह अमेरिकी जनप्रतिनिधि, भारत सरकार ने नहीं दी इजाजत

अमेरिकी सीनेटर ने कहा, 'मैंने सोचा था कि कश्मीर जाकर वहां की स्थिति को खुद से जानूंगा। मेरा व्यक्तिगत विचार है कि यदि आपके पास छुपाने के लिए कुछ भी नहीं है तो आपको राज्य में लोगों को जाने देने को लेकर डरना नहीं चाहिए।'

Jammu and Kashmir, US Senator, Democratic party, maryland, Article 370, Indian govt, foreign diplomat, special status to Jammu and Kashmir, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiहॉलेन अमेरिका के मैरीलैंड से सीनेटर हैं, यहां मुस्लिम आबादी खासी संख्या में है। (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में जन्मे और श्रीलंका में स्कूलिंग करने वाले अमेरिका के प्रमुख सीनेटर को भारत ने जम्मू-कश्मीर आने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। डेमोक्रेटिक पार्टी के कराची में जन्मे सीनेटर क्रिस वैन हॉलेन जम्मू कश्मीर आकर अपनी आंखे से जम्मू-कश्मीर के जमीनी हालात देखना चाहते थे लेकिन भारत सरकार ने उन्हें अनुमति नहीं दी।

सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के फैसले के बाद यह निर्णय लिया गया है। क्रिस हॉलेन ने श्रीलंका के कोडाइकनाल से अपनी स्कूली शिक्षा हासिल की। उस दौरान क्रिस हॉलेन के पिता श्रीलंका में अमेरिकी राजनयिक के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे।

भारत की तरफ से कश्मीर जाने की अनुमति नहीं मिलने के बावजूद क्रिस हॉलेन भारत आएंगे। डेमोक्रेटिक सांसद यहां नई दिल्ली में सिविल सोसाइटी के प्रमुख सदस्यों से मुलाकात के साथ ही अधिकारियों से भी मिलेंगे। इंडियन एक्सप्रेस से बाचतीच में क्रिस हॉलेन ने कहा कि मैं कश्मीर जाकर वहां के हालात के बारे में अपने स्तर पर जानकारी लेना चाहता था लेकिन भारत सरकार ने इसके लिए अनुमति नहीं दी।

उन्होंने कहा कि  हमने एक सप्ताह पहले भारत सरकार से इस बारे में संपर्क किया था लेकिन हमसे कहा गया कि कश्मीर जाने का अभी यह सही समय नहीं है। भारत घूम चुके हॉलेन अभी तक जम्मू कश्मीर नहीं गए हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने सोचा था कि कश्मीर जाकर वहां की स्थिति को खुद से जानूंगा। मेरा व्यक्तिगत विचार है कि यदि आपके पास छुपाने के लिए कुछ भी नहीं है तो आपको राज्य में लोगों को जाने देने को लेकर डरना नहीं चाहिए।’ उन्होंने कहा कि इससे मैं सिर्फ यही निष्कर्ष निकाल सका हूं कि भारत सरकार नहीं चाहती कि वहां जो कुछ हो रहा है उसे हम देखें।

हालांकि, इस मुद्दे पर भारत सरकार की तरफ से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं आई। सूत्रों का कहना है कि सुरक्षा कारणों के मद्देनजर विदेशी राजनयिक को जम्म-कश्मीर जाने की अनुमति नहीं दी गई। मालूम हो कि हॉलेन जिस मैरीलैंड काउंटी से सीनेटर हैं जो अमेरिका के सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाले इलाकों में से एक है।

Next Stories
1 HARYANA ELECTIONS 2019: भजनलाल के गढ़ में TikTok स्टार के जरिए सेंध लगाएगी भाजपा! फिल्मों और टीवी में भी काम कर चुकी हैं सोनाली फोगाट
2 उत्तर प्रदेश: महिला कॉन्स्टेबल से साल भर से रेप कर रहा था मौलाना! आरोपी गिरफ्तार
3 PMC घोटाला: लग्जरी लाइफस्टाइल के शौकीन हैं आरोपी! करोड़ों की कारें जब्त, बेंटले से लेकर रॉल्स रॉयस तक शामिल
CSK vs DC Live
X