ताज़ा खबर
 

कोरोना योद्धाओं के सम्मान में आसमान से पुष्प-वर्षा करेगी सेना, CDS जनरल बिपिन रावत ने बताया मेगा प्लान

जानकारी के मुताबिक, ये फ्लाईपास्ट तीन मई को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से केरल के तिरुवनंतपुरम तक किया जाएगा और उस दौरान सेना की तरफ से कोरोना योद्धाओं को खास सम्मान दिया जाएगा।

देश की तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ शुक्रवार शाम प्रेस को संबोधित करते हुए सीडीएस जनरल बिपिन रावत।

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच भारतीय सेना कोरोना योद्धाओं (डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, सफाई कर्मचारियों, पुलिस, मीडिया व अन्य) को विशेष ढंग से सम्मानित करेगी। शुक्रवार को चीफ डिफेंस ऑफ स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत ने मीडिया संबोधन के दौरान इसी से जुड़ा मेगा प्लान बताया।

उन्होंने कहा- सैन्य बलों की तरफ से हम कोरोना योद्धाओं को शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। डॉक्टर्स, नर्स, सैनिटेशन कर्मचारी, पुलिस, होम गार्ड्स, डिलीवरी बॉय और मीडिया, जिन्होंने कठिन समय में भी सेवाएं जारी रखीं और सरकार का संदेश (जागरूकता को लेकर) भी बढ़ाया। कोरोना वायरस महामारी से निपटने में राष्ट्र एक साथ खड़ा है और संकट से शीघ्र उबरने की क्षमता प्रदर्शित की है

जनरल रावत के मुताबिक, सेना अपनी ओर से देश के लगभग हर जिले में माउनटेन बैंड (सेना का बैंड) कराएगी, जिसमें से कुछ कोरोना समर्पित अस्पतालों में भी होंगे। पुलिस बल के समर्थन में सेना तीन मई को पुलिस मेमोरियल पर माल्यार्पण करेगी।

बकौल जनरल रावत, “भारतीय वायु सेना के फ्लाईपास्ट के दौरान कुछ जगहों पर पुष्पवर्षा भी की जाएगी।” जानकारी के मुताबिक, ये फ्लाईपास्ट तीन मई को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से केरल के तिरुवनंतपुरम तक किया जाएगा और उस दौरान सेना की तरफ से कोरोना योद्धाओं को खास सम्मान दिया जाएगा।

जनरल रावत आगे बोले- नेवी अपने हिस्से पर तीन मई की शाम को समुद्री तट वाले इलाकों पर जंगी जहाजों की तैनाती करेगी। वॉरशिप्स में बत्तियां जलेंगी और चॉपर्स से अस्पतालों पर फूलों की वर्षा की जाएगी।

उनके मुताबिक, देश के रेड जोन्स में तैनात पुलिस बहुत अच्छे से काम कर रही है। वे वहां पर भी ऐक्शन लेने की क्षमता रखती है। ऐसे में किसी भी प्रकार की सैन्य तैनाती की जरूरत नहीं है।

इसी बीच, सेना प्रमुख जरनल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा- कोरोना से निपटने में कोई दिक्कत नहीं है। सेना में कोरोना का पहला मरीज ठीक हो चुका है और वह ड्यूटी पर भी लौट चुका है। सेना में अब तक 14 मामले सामने आए थे, जिनमें से पांच लोग ठीक हो चुके हैं। और, वे काम पर भी लौट चुके हैं।

वहीं, भारतीय वायु सेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने बताया कि उन लोगों ने कोरोना को लेकर सभी जरूरी ऐहतियाती कदम उठाए हैं, लिहाजा वहां अभी तक एक भी संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है। पर हम अपनी सुरक्षा कमजोर नहीं करेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना के बीच आयोग ने दी महाराष्ट्र में विधान परिषद चुनाव की तारीख, हारने पर उद्धव ठाकरे को देना होगा इस्तीफा
2 चित्रकूट में कमिश्नर और डीआईजी ने तोड़ा लॉकडाउन; उड़ाईं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां
3 लॉकडाउन में फंसे मजदूर, पर्यटक, छात्र व अन्य लोग पहुंचेंगे घर! केंद्र ने दी विशेष ट्रेनों से आवाजाही की मंजूरी