ताज़ा खबर
 

भारतीय जवानों के मारे जाने के पाक मीडिया के दावे झूठे, दिखा रहा है जाली वीडियो-तस्वीरें:सेना

डीजीएमओ ले. जनरल रणबीर सिंह ने गुरुवार को पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी दी थी।

Author नई दिल्ली | September 30, 2016 4:06 PM
उरी में तैनात भारतीय सेना का जवान। (Photo- PTI/File)

भारतीय सेना के सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी टीवी चैनल भारतीय जवानों के मारे का झूठा दावा कर रहा है। पाकिस्तान के चैनलों पर जो वीडियो दिखाए जा रहे हैं वे तस्वीरें और वीडियो फर्जी हैं। सेना के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, ‘कुछ पाकिस्तानी टीवी चैनल भारतीय जवानों के मारे जाने के झूठा दावा कर रहे हैं। पाक मीडिया फर्जी तस्वीरें और वीडियो दिखा रही है। इसके साथ ही ये तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर भी सर्कूलेट किए जा रहे हैं। यह पुष्टि हो चुकी है कि ये वीडियो फर्जी हैं और ब्लैक प्रोपेगेंडा का उदाहरण है। हम अपील करते हैं इन वीडियो को सर्कूलेट या प्रसारित ना किया जाए।’

वीडियो में देखें- तनाव के बावजूद जारी है भारत और पाकिस्तान के बीच बस सेवा

गुरुवार को भारत के डीजीएमओ ने बताया था कि भारतीय सेना ने एलओसी पार करके पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक किए हैं। इस दौरान भारतीय सेना के जवानों ने पीओके में आतंकियों के कई ठिकाने ध्वस्त कर दिए। भारतीय सेना ने साथ ही बताया था कि भारत के सभी जवान सही सलामत वापस लौटे हैं, लेकिन एक जवान घायल हो गया, जिसका इलाज दिल्ली के आर्मी अस्पताल में चल रहा है।

Read Also:  पंजाब: सीमावर्ती गांवों में 1965 और 1971 के युद्ध जैसे हालात, गांवों में रह गए हैं केवल मर्द

वहीं पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे का खंडन किया है। पाकिस्तानी सेना ने कहा कि उन्होंने भारतीय सेना के आठ जवानों को मार गिराया है और एक को जिंदा पकड़ा है। लेकिन भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना के इस दावे का खंडन किया। भारतीय सेना ने कहा कि केवल उनका एक जवान गलती से सीमा पार चला गया। जिसे पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया। राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा था कि वे पाकिस्तान सेना की गिरफ्त में भारतीय जवान को छुड़ाने की कोशिश कर रहे हैं।

Read Also:  सर्जिकल स्ट्राइक पर PM मोदी का आदेश, सिर्फ डीजीएमओ ही मीडिया से करेंगे बात

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App