ताज़ा खबर
 

आर्मी चीफ ने दी चेतावनी- जल्द ऐक्शन लें वर्ना बहुत देर हो जाएगी

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत की पंजाब को लेकर यह चेतावनी ऐसे समय में सामने आयी है, जब बीते हफ्ते ही पंजाब के पटियाला में ISI समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश हुआ है।

Author November 4, 2018 12:58 PM
आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत। (pti photo)

भारतीय सेना के चीफ जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान पंजाब को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है। दरअसल जनरल रावत द्वारा ‘बाहरी तत्वों’ द्वारा पंजाब में फिर से उग्रवाद शुरु करने की आशंका जतायी गई है और उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि इस पर जल्द ही ऐक्शन नहीं लिया गया तो फिर बहुत देर हो सकती है। आर्मी चीफ का यह बयान ऐसे वक्त आया है, जब हाल के दिनों में पुलिस द्वारा कई खालिस्तानी समर्थकों की गिरफ्तारी की गई है और शुरुआती जांच में पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा इन्हें समर्थन देने की बात सामने आयी है। बता दें कि ऐसी खबरें  मिल रही हैं कि पाकिस्तान की खूफिया एजेंसी आईएसआई पंजाब में फिर से उग्रवाद को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है।

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने शनिवार को वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों, रक्षा विशेषज्ञों, पूर्व वरिष्ठ अधिकारियों और सरकार और पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी वाले एक सेमिनार Changing Contours of Internal Security in India: Trends and Responses को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान जनरल बिपिन रावत ने कहा कि “पंजाब में पिछले कई सालों से शांति है, लेकिन कुछ ‘बाहरी संगठन’ हैं, जो राज्य में फिर से उग्रवाद की आग फैलाना चाहते हैं।” जनरल रावत ने कहा कि “हमें ऐसा नहीं सोचना चाहिए कि पंजाब की समस्या खत्म हो चुकी है। पंजाब में जो कुछ हो रहा है, उसके प्रति हम अपनी आंखे बंद करके नहीं रह सकते। यदि हमने जल्द ही कोई ऐक्शन नहीं लिया तो फिर बहुत देर हो जाएगी।”

बता दें कि जनरल बिपिन रावत की यह चेतावनी ऐसे समय में सामने आयी है, जब बीते हफ्ते ही पंजाब के पटियाला में ISI समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश हुआ है। पुलिस के छापे में शबनामदीप सिंह नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस के अनुसार, शवनामदीप पुलिस स्टेशन और त्योहारों के सीजन को देखते हुए भीड़-भाड़ वाले इलाकों में हमला करने की योजना बना रहा था। पटियाला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, शबनामदीप सिंह का संबंध खालिस्तान गदर फोर्स से है, जो कि एक आतंकी संगठन है। इसके साथ ही शबनामदीप सिंह का संबंध किसी सिख फॉर जस्टिस (SFJ) नामक संगठन से भी बताया जा रहा है।

पुलिस ने दावा करते हुए बताया है कि शबनामदीप सिंह की गिरफ्तारी से पंजाब में ISI का नेटवर्क पकड़ने में मदद मिली है। पुलिस को गुरपतवंत सिंह पन्नु के बारे में भी पता चला है, जो कि SFJ का सदस्य है और पंजाब में सिख रेफरेंडम-2020 को लेकर प्रचार कर रहा है। पुलिस को कहना है कि इसके लिए उसे पाकिस्तानी खूफिया एजेंसी ISI समर्थन दे रही है। बीते माह उत्तर प्रदेश के शामली में भी 3 सिख युवकों को गिरफ्तार किया गया था। इन युवकों ने 2 पुलिसकर्मियों पर हमला कर उनकी राइफलें छीन लीं थी। पुलिस पूछताछ में पता चला कि ये युवक पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल पर किसी रैली के दौरान हमले की योजना बना रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X