ताज़ा खबर
 

भारतीय सेना का चीता चॉपर भूटान में क्रैश, 2 पायलट्स की गई जान; खराब मौसम से हुआ हादसा!

हेलिकॉप्टर योनफूला डोमेस्टिक एयरपोर्ट के नजदीक क्रैश हुआ। बताया जा रहा है कि खराब मौसम की वजह से हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हुआ।

क्रैश के बाद हेलिकॉप्टर बुरी तरह क्षतिग्रस्त। फोटो सोर्स: Twitter/The Bhutanese

भारतीय सेना का चीता हेलिकॉप्टर शुक्रवार (27 सितंबर 2019) को भूटान में हादसे का शिकार हो गया। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, हादसे में हेलिकॉप्टर में सवार दो पायलट्स की मौत हो गई। इनमें से एक पायलट भूटान का तो दूसरा भारत का था। हेलिकॉप्टर योनफूला डोमेस्टिक एयरपोर्ट के नजदीक क्रैश हुआ। बताया जा रहा है कि खराब मौसम की वजह से हेलिकॉप्टर दोपहर करीब 1.30 बजे हादसे का शिकार हुआ।

हादसे की तस्वीरें भी सामने आई है, जिसमें हेलिकॉप्टर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त दिख रहा था, जबकि पायलट्स की मौत मौके पर ही हो गई थी। हेलकॉप्टर में भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल रैंक के पायलट सवार थे, जो भूटान के पायलट के साथ ट्रेनिंग कर रहे थे।

आर्मी के बयान में कहा गया, “हादसा बेहद दुखद है। चॉपर दोपहर एक बजे भूटान के योनफुला में क्रैश हुआ। एक बजे के बाद उससे रेडियो और विजुअल संपर्क टूट गया था। चॉपर उस दौरान ड्यूटी पर था और अरुणाचल के खिरमू से योनफुला जा रहा था।”

आगे कहा गया, “घटना के थोड़ी देर बाद हमने चॉपर का मलबा बरामद किया। घटना के दौरान वे दोनों पायलट्स ट्रेनिंग पर थे और उनमें से कोई भी नहीं बचा है। जल्द ही उनकी पहचान जारी की जाएंगे।”

बता दें कि 80 के दशक के चीता हेलिकॉप्टर को ‘डेथ ट्रैप’ भी कहा जाने लगा है। सेना काफी समय से इसे हटाने की मांग कर रही है। इससे पहले उत्तराखंड के केदारनाथ में भारतीय सेना का हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार होते-होते रह गया। लैंडिंग के समय हेलिकॉप्टर का संतुलन बिगड़ गया था। उसमें एक पायलट और 5 यात्री सवार थे। हालांकि इस दौरान कोई जान-माल का नुकसान नहीं होगा।

Next Stories
1 जॉब के मोर्चे पर एक और बुरी खबर, इन पांच सेक्टर्स में गई 16 लाख नौकरियां, वजह जानकर होगी हैरानी
2 शरद पवार को ईडी का मेल, आने की जरूरत नहीं, NCP चीफ के घर पहुंचे मुंबई पुलिस कमिश्नर
3 नाहक नौ महीने जेल में रहे गोरखपुर के डॉ. कफील खान, दो साल बाद जांच में हुए बरी
ये पढ़ा क्या?
X