ताज़ा खबर
 

भारत को मिली 36 राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप, फ्रांस में डिप्टी चीफ एयर मार्शल ने रिसीव कर घंटेभर भरी उड़ान

इन विमानों की अगले 6 से 7 महीने तक फ्रांस में ही टेस्ट और ट्रायल जारी रहेगा। इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद यह भारत को सौंप दिए जाएंगे।

Author Updated: September 20, 2019 10:19 PM
राफेल फाइटर जेट (फोटो- एक्सप्रेस फाइल)

Indian Air Force Rafale Fighter Jets: भारतीय वायुसेना को राफेल विमानों की पहली खेप शुकवार को फ्रांस में मिल गई। भारत को मिले लड़ाकू विमान की खेप में कुल 36 विमान शामिल हैं। डिप्टी चीफ एयर मार्शल ने विमानों को रिसीव कर करीब घंटेभर उड़ान भी भरी। सेना से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि डिप्टी चीफ एयर मार्शल वीआर चौधरी ने लगभग एक घंटे तक टेल नंबर आरबी-01 विमान में उड़ान भरी। यह टेल नंबर भारतीय वायुसेना के अगले चीफ एयर मार्शल राकेश कुमार सिंह भदौरिया के नाम को दर्शाता है।

सूत्रों के मुताबिक इन विमानों का अगले 6 से 7 महीने तक फ्रांस में ही टेस्ट और ट्रायल जारी रहेगा। इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद यह भारत को सौंप दिए जाएंगे। भारत और फ्रांस के बीच इन विमानों के लिए कुल 60 हजार करोड़ रुपए की डील हुई है। भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल होने के बाद सेना के ताकत में कई गुना इजाफा होगा। राफेल की गिनती दुनिया के टॉप लड़ाकू विमानों में होती है।

कहा जा रहा है कि ये सभी विमान मई 2020 तक भारत को डिलीवर कर दिए जाएंगे। तब तक इस प्लेन के संचालन और बारीकियों से जुड़ी जानकारियों के लिए सेना के जवानों को ट्रेनिंग देकर इनमें उड़ान भरने के लिए पूरी तरह से तैयार कर लिया जाएगा। इसके लिए भारतीय वायुसेना के पायलटों के तीन अलग-अलग बैच फ्रांस में ट्रेनिंग ले रहे हैं।

बता दें कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह 8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस पर पेरिस में पहले रॉफेल विमान को औपचारिक रूप से ग्रहण करेंगे। राफेल विमान लेने सिंह के साथ रक्षा सचिव अजय कुमार और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी सात अक्टूबर को तीन दिन के पेरिस दौरे पर जाएंगे। राफेल विमान को भारत को सौंपने के लिए आयोजित कार्यक्रम में फ्रांस के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी और दसाल्ट एविएशन के अधिकारी भी शामिल होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 कश्मीर: 6 नेताओं ने रिहाई के लिए बांड पर किए हस्ताक्षर; सज्जाद लोन, शाह फैजल समेत 30 का इनकार
2 ‘यह हिन्दुस्तान है, कोई धर्मशाला नहीं’, NRC की वकालत में बोले बीजेपी के मुस्लिम प्रवक्ता
3 राजदीप सरदेसाई ने पूछा सवाल तो नितिन गडकरी ने ली चुटकी- ‘मीडिया में डबल ढोलकी बजाने वाले हैं…’