ताज़ा खबर
 

भारतीय सीमा में घुसा जॉर्जिया का मालवाहक विमान, वायुसेना ने कराई जबरन लैंडिंग; जांच में नहीं मिला कुछ संदिग्ध

समाचार एजेंसी 'एएनआई' ने सरकार से जुड़े सूत्रों के हवाले से बताया गया कि यह भारी मालवाहक विमान एंटोनोव एएन-12 है, जो वाया कराची (पाकिस्तान) से होकर भारतीय सीमा में घुसा था।

जबरन लैंडिंग के बाद जयपुर एयरपोर्ट पर खड़ा एंटोनोव एएन-12 मालवाहक विमान।

भारतीय सीमा में शुक्रवार (10 मई, 2019) को घुस आए जॉर्जिया के एक भारी मालवाहक विमान को वायु सेना (आईएएफ) के सुखोई विमानों ने राजस्थान के जयपुर में जबरन लैंड कराया। घटना के फौरन बाद विमान के पायलटों से पूछताछ की गई। हालांकि, पुलिस ने बताया कि जांच के बाद उसमें कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला और जल्द ही उसे उड़ान भरने की अनुमति दे दी जाएगी। समाचार एजेंसी ‘एएनआई’ ने सरकार से जुड़े सूत्रों के हवाले से बताया था कि यह एंटोनोव एएन-12 विमान है, जो वाया कराची (पाकिस्तान) से होकर भारतीय सीमा में घुसा था।

‘एएनआई’ की रिपोर्ट में सरकार में वरिष्ठ सूत्रों के हवाले से आगे कहा गया था कि पुर्जों से लदे मालवाहक विमान को जयपुर में शाम करीब चार बजकर 55 मिनट पर जबरन लैंड करा लिया गया था। एएन-12, भारतीय वायु क्षेत्र में एक अहम एयर बेस के तकरीबन 70 किलोमीटर दूर से देश की सीमा में घुसा था। यह भी कहा गया था कि उसने गुजरात के उत्तरी हिस्से में भी दाखिल होने की कोशिश की थी।

यह भी बताया गया कि वायु सेना जल्द ही अपने कुछ दस्तों को नजदीकी एयरबेस पर विमान के कार्गो संबंधी सामान को चेक करने के लिए भेजेगी। वायुसेना के प्रवक्ता जीपी कैप्टन अनुपम बनर्जी ने बताया, “दोपहर को जॉर्जिया के एएन-12 विमान ने दिल्ली के लिए उड़ान भरी थी और वह कराची से रास्ते भारतीय वायु क्षेत्र में घुस आया था, तभी आईएएफ के वायु सुरक्षा विमानों ने उसे पकड़ा और जयपुर एयरपोर्ट पर लैंडिंग के लिए मजबूर कराया।”

सूत्रों की तरफ से कहा गया कि जैसे ही वायु सेना के बेस ने अपने रडारों पर संदिग्ध विमान के सिग्नल पाए थे, उन्होंने फौरन उसके बाद दो सुखोई-30 एमकेआई विमानों को उसे पकड़ने के लिए भेज दिया था। बकौल सूत्र, “जॉर्जिया के विमान की तरफ से शुरुआत में प्रतिक्रिया नहीं आ रही थी, पर 60 किमी पीछा करने के बाद उसके पायलट वायुसेना के कहने पर जबरन लैंडिंग पर मजबूर हुए।”

‘भाषा’ की रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से कहा गया कि एएन12 विमान की जांच में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। अतिरिक्त पुलिस आयुक्त लक्ष्मण गौड़ के मुताबिक, “विमान को जल्द ही उड़ान भरने की मंजूरी दी जाएगी। विमान ने उड़ान के दौरान हवाई सीमा का मामूली उल्लंघन किया था और उस विमान में सात से आठ यात्री थे।”

खबर संशोधित किए जाने तक, जयपुर हवाई अड्डे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जांच के बाद विमान को छोड़ दिया गया। जल्द ही उसे नई दिल्ली के लिए जल्द ही उड़ान भरने दी जाएगी। वहीं, रक्षा सूत्रों का कहना था कि जॉर्जिया का विमान रास्ता भटक गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App