ताज़ा खबर
 

LoC के पास उड़े दो पाकिस्तानी सुपरसोनिक जेट, हाई अलर्ट पर भारत

वायुसेना रडार पर ने भारत और पाकिस्तान के बीच नियंत्रण रेखा के समीप पाकिस्तानी सुपरसोनिक जेट पाया। इसके बाद भारतीय वायुसेना अलर्ट पर है।

पाकिस्तानी लड़ाकू विमान। (Photo: ANI)

भारत और पाकिस्‍तान के बीच तनावपूर्ण संबंधों के बीच पाकिस्‍तानी वायुसेना के दो सुपरसोनिक विमान एलओसी के पास उड़ान भरते देखे गए। ये विमान भारत की सीमा से महज 10 किमी दूर (पाकिस्‍तानी सीमा में) मंडरा रहे थे। घटना 12 मार्च की रात की है। पूंछ सेक्‍टर में इन विमानों की जोरदार गड़गड़ाहट सुनी गई। इसके बाद भारतीय वायु सेना के सारे राडार व रक्षा तंत्र हाई अलर्ट पर आ गए।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए हमले के बाद भारतीय वायुसेना नेे पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद के ठिकानों पर एयर स्ट्राइक किया था। इसके बाद पाकिस्तानी वायुसेना भी जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा को पार कर भारत आ गई थी। हालांकि, भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को खदेड़ दिया था और एक लड़ाकू विमान को मार गिराया था।

इस घटना के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल बन गया था। पाकिस्तानी वायुसेना के लड़ाकू विमान को मार गिराने के क्रम में एक भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान में गिरफ्तार हो गए थे। हालांकि, 1 मार्च को अभिनंदन की वापसी हो गई थी। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि हम भारत के साथ युद्ध नहीं चाहते हैं। लेकिन आज (बुधवार) पाकिस्तानी वायुसेना के विमान के एलओसी के नजदीक आनेे के बाद दोनों देश के बीच फिर से तनाव बढ़ सकता है।

इस बीच पाकिस्तान से ये खबर आ रही है कि भारत के साथ तनाव के बीच पाक वायु सेना ने जेएएफ थंडर लड़ाकू विमान से देश में विकसित ‘‘स्मार्ट अस्त्र’’ का सफल परीक्षण करने की घोषणा की है। इससे जेएफ-17 थंडर लड़ाकू विमान की दिन और रात की युद्ध क्षमता में इजाफा होगा और ये लक्ष्य पर सटीक निशाना लगाएंगे। पाकिस्तान वायु सेना ने कहा है कि प्रायोगिक परीक्षण देश के लिए मील का पत्थर है क्योंकि पाकिस्तानी वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की बदौलत देश में ही इसे विकसित किया गया है।

चीन और पाकिस्तान द्वारा संयुक्त तौर पर निर्मित लड़ाकू विमान के बारे में वायु सेना ने मंगलवार को कहा कि सफल परीक्षण ने दिन और रात के समय जेएफ-17 थंडर लड़ाकू विमान को अचूक निशाने के साथ लक्ष्य भेदने की क्षमता प्रदान की है।

चीफ ऑफ एयर स्टाफ, एयर चीफ मार्शल मुजाहिद अनवर खान ने वैज्ञानिकों और इंजीनियरों की सराहना की। उन्होंने स्वदेशी क्षमता हासिल करने के लिए वायु सेना र्किमयों को बधाई दी। उन्होंने कहा ‘‘पाकिस्तान एक शांतिप्रिय देश है, लेकिन अगर दुश्मन ने हमारे खिलाफ कोई कदम उठाया तो हम पूरी ताकत से इसका जवाब देंगे।’’ वायु सेना ने परीक्षण किए गए अस्त्र के तकनीकी ब्यौरे का खुलासा नहीं किया है। जेएफ-17 को पूर्व में एफसी-1 शिओलोंग विमान कहा जाता था। (भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App