ताज़ा खबर
 

“5 मिनट में 100 मानहानि केस रद्द करा दिए थे”, जब बोले थे BJP के स्वामी- आप भी डालकर देखें, क्या हाल होता है; हंसने लगे थे India TV के रजत शर्मा

देश भर में कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच, भाजपा के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को COVID-19 प्रबंधन का प्रभारी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बनाने का सुझाव दिया था।

भाजपा नेता व राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (फोटो – PTI)

इंडिया टीवी के कार्यक्रम आप की अदालत में बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा था कि मैंने आज तक किसी पर ऐसे आरोप नहीं लगाए जिसे लेकर मैं सबूत पेश न कर सकूं। स्वामी ने कहा कि आज तक मेरे खिलाफ कोई मानहानि का केस नहीं जीत सका। एंकर ने कहा कि आप के खिलाफ 60 मानहानि के केस हैं। स्वामी ने बताया कि एक बार मेरे खिलाफ 100 मानहानि के केस किए गए। इसके जवाब में मैं सुप्रीम कोर्ट गया और 5 मिनट में 100 केस को रद्द करा दिया। स्वामी ने कहा कि आप भी मेरे खिलाफ मानहानि का केस डालकर देखिए आपका भी क्या हाल होता है? ये सुनकर एंकर रजत शर्मा हंसने लगे।

बता दें कि देश भर में कोरोनावायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच, भाजपा के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को COVID-19 प्रबंधन का प्रभारी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बनाने का सुझाव दिया था। एक ट्वीट में, फायरब्रांड बीजेपी नेता ने एक तीसरी COVID-19 लहर की भी चेतावनी दी जो बच्चों को अधिक लक्षित कर सकती है और सरकार से इस लड़ाई का नेतृत्व गडकरी को सौंपने का आग्रह किया। ‘

स्वामी ने ट्वीट किया, “भारत कोरोनो वायरस महामारी का सामना उसी तरह करेगा जिस तरह देश ने इस्लामी आक्रमणकारियों और ब्रिटिश साम्राज्यवादियों का किया था। हम एक और लहर का सामना कर सकते हैं जो बच्चों को लक्षित करती है जब तक कि अब सख्त सावधानी नहीं बरती जाती। इसलिए मोदी को गडकरी को कोरोना से लड़ाई का संचालन सौंपना चाहिए। पीएमओ पर भरोसा करना बेकार है। ”

स्वामी ने कहा कि उनकी आलोचना पीएमओ के लिए थी, जो कि एक विभाग है न कि प्रधानमंत्री की। स्वामी ने एक अन्य ट्वीट में भी स्पष्ट किया कि वह स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को हटाने की सिफारिश कर रहे थे।

स्वामी ने लिखा, “नहीं, हर्षवर्धन को पूरी छूट नहीं है। लेकिन वह अपने अधिकार का दावा करने के लिए बहुत विनम्र हैं। गडकरी के साथ वह काम के साबित होंगे। ”

विशेष रूप से, बीजेपी के दिग्गज नेता का यह ट्वीट उस समय आया जब कई राज्यों के कई शहरों में दर्जनों अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गई है, जिससे मरीजों के परिजन ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए काफी परेशान हैं।

Next Stories
1 दमोह विधानसभा उपचुनाव : वरिष्ठ भाजपा नेता जयंत मलैया को कारण बताओ नोटिस
2 बिहार में एंबुलेंस पर संग्राम: राजीव प्रताप रूड़ी के कैम्पस में पार्क मिलीं कई एंबुलेंस, पप्पू यादव ने करा दी ड्राइवरों की परेड
3 कमिश्नर बने ‘कमाल खान’, एसीपी को बनाया ‘बेगम’ और पहुंच गए थाने, फिर क्या हुआ, जानिए
ये पढ़ा क्या?
X